Right News

We Know, You Deserve the Truth…

ठेके तो बंद, लेकिन फिर भी अवैध तरीके से बिक रही शराब

हिमाचल में कोरोना कर्फ्यू में शराब के ठेके भी पूरी तरह बंद है, लेकिन शराब के शौकीन रात तो रात दिन के उजाले में भी शराब का जुगाड़ कर रहे है। राजधानी के व्यस्त रहने वाले लक्कड़ बाजार में कर्फ्यू के बावजूद वीरवार को दिनभर शराब बिकती रही। पुलिस पहरे के बाद भी ठेके से शराब बिक रही है। ठेके के बाहर पहले से ही मौजूद शराब के ठेके का आदमी बाहर निकलकर लोगों को गुपचुप तरीके से शराब दे रहे है। शहर के कई ठेकों के बाहर इसी तरह का नजारा देखने को मिल रहा है। कहने को शराब के ठेके बंद है, लेकिन लोगों की डिमांड पर और फोन कॉल पर उन्हें होम डिलीवरी दी जा रही है। बहुत से तलबगार ऐसे भी है जो कर्फ्यू में ढील के दौरान ठेके के आसपास मंडराते नजर आएंगे। हालांकि पुलिस ने पहरा लगा रखा है उसके बाद भी यह नजर बचाकर बोतल का जुगाड़ कर ही लेते हैं। हालांकि इसके लिए उन्हें थोड़े महंगे दाम भी चुकाने पड़ रहे है, लेकिन वह किसी भी कीमत पर शराब की बोतल लेने के लिए तैयार है। एक व्यक्ति ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि शराब की दुकान में काम कर रहे व्यक्ति के फोन पर संपर्क कर उन्हें तय स्थान पर शराब दी जा रही है। बहुत से लोगों ने ऐसी जगहों पर शराब पहुंचाई जा रही है जो पुलिस की नजर से दूर है। शहर के बाहर कई जगह ठेके ऐसी जगह पर है जहां पुलिस गश्त नहीं पहुंच रही और कई पुलिस को चकमा देकर शराब मुहैया करवा रहे है। कई लोगों का तो यह भी कहना है कि अवैध रूप से शराब बिक रही है, जिससे राज्य सरकार को राजस्व का भी नुक्सान हो रहा है। इसलिए अन्य दुकानों की तर्ज पर सरकार को जिस तरह अन्य दुकानदारों को समय दिया गया है, उसी समय के अनुसार शराब की दुकानों को भी खुला रखा जाए।

error: Content is protected !!