झारखंड के हजारीबाग के पेलावल में सड़क जाम करके बच्चों से जुमे की नमाज पढ़वाने का मामला सामने आया है। इस मामले में पुलिस ने तीन से अधिक लोगों को हिरासत में लिया है। सड़क पर नमाज अदा करने की फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। तस्वीर में दिख रहा है कि कुछ बच्चे बीच सड़क पर नमाज अदा कर रहे हैं। इसके कारण सड़क पर दोनों ओर लोगों की भीड़ लगी हुई है। बीजेपी विधायक ने इस मामले में जिला प्रशासन से कार्रवाई करने की मांग की थी।

वायरल हो रही फोटो पर लेखिका और सामाजिक कार्यकर्ता तस्लीमा नसरीन का कहना है कि किसी धर्म में मानवता को परेशान करने की अनुमति नहीं दी जाती। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘इन बच्चों को सजा न दें बल्कि उन बुरे लोगों को सजा दें जिन्होंने बच्चों को सामने करके सड़क ब्लॉक करवाई है। किसी भी धर्म में मानवता को परेशान करने की अनुमति नहीं दी जाती है।’

घटना के पीछे छोटी मानसिकता वाले लोग
इस घटना पर हजारीबाग से बीजेपी विधायक मनीष जायसवाल ने कहा कि छोटे बच्चों को आगे कर सड़क पर नमाज पढ़ने के पीछे छोटी मानसिकता वाले लोग हैं। उन्होंने कहा कि यह मामला उनके संज्ञान में आया है। इस संबंध में उन्होंने जिला प्रशासन से बात करके मामले में जल्द से जल्द कार्रवाई करने की मांग की है।

सड़क पर लगा लंबा जाम
सोशल मीडिया पर वायरल हो रही तस्वीर में दिख रहा है कि छोटे बच्चों को आगे करके सड़क जाम करके नमाज अदा की जा रही है। सड़क के बीचों-बीच नमाज एदा करने से दोनों तरफ लंबा जाम लग गया था। वहीं सोशल मीडिया पर भी यूजर्स इसे लेकर अलग-अलग तरह की प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

हिरासत में तीन से अधिक लोग
हजारीबाग में बच्चों से नमाज पढ़ाने की तस्वीर वायरल कराने के आरोप में तीन से अधिक लोगों को हिरासत में लिया गया है। एसपी कार्तिक एस ने बताया कि पेलावल में बीच सड़क पर बच्चों को बिठाकर सड़क जाम किए जाने की एक तसवीर वायरल की गई थी। इसके बाद पुलिस हरकत में आ गई। कुछ शरारती तत्वों ने जानबूझ कर सौहार्द्र बिगाड़ने की कोशिश की। पुलिस ने उनकी पहचान कर ली है। 

हजारीबाग के एसपी कार्तिक एस ने कहा, ‘सोशल मीडिया पर किसी तरह की अफवाह फैलाने से बचें लोग। सामाजिक सौहार्द्र बिगाड़ने की कोशिश करने वालों से सावधान रहें। पुलिस उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी।’

error: Content is protected !!