सीबीआई ने एनएचपीसी के महाप्रबंधक समेत तीन को पांच लाख रिश्वत मामले में किया गिरफ्तार

Read Time:2 Minute, 37 Second

सीबीआई ने पांच लाख रुपये की रिश्वत के एक मामले में सार्वजनिक क्षेत्र की पनबिजली कंपनी एनएचपीसी के मुख्य महाप्रबंधक और गैमन सीएमसी ज्वाइंट वेंचर लिमिटेड के एक वरिष्ठ कार्यकारी सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि यह मामला हिमाचल प्रदेश में पार्वती पनबिजली परियोजना के लंबित बिलों से संबंधित है। उन्होंने कहा कि एनएचपीसी के मुख्य महाप्रबंधक (वित्त) हरजीत सिंह पुरी तथा गैमन सीएमसी ज्वाइंट वेंचर के वरिष्ठ महाप्रबंधक (प्रोजेक्ट) सुनील मेंदीरत्ता और एक अन्य आरोपी संचित सैनी को गिरफ्तार किया गया है।

सीबीआई ने इस मामले में कंपनी गैमन सीएमसी तथा सुनील सैनी नाम के एक अन्य व्यक्ति के खिलाफ भी मामला दर्ज किया है। उन्होंने कहा कि कंपनी के कुल्लू (हिमाचल प्रदेश) के पास एनएचपीसी के पार्वती परियोजना में चल रहे कार्य के लिए 5.26 करोड़ रुपये से अधिक के बिल लंबित थे।

सीबीआई ने आरोप लगाया है कि मेंदीरत्ता ने पुरी से भुगतान की प्रक्रिया में तेजी लाने का अनुरोध किया और इसके लिए पुरी ने पांच लाख रुपये की रिश्वत मांगी। उन्होंने बताया कि रिश्वत की जानकारी मिलने के बाद सीबीआई ने फरीदाबाद में एक स्थान पर छापा मारा जहां पुरी को संचित सैनी के साथ गिरफ्तार किया गया। सैनी पर रिश्वत के लिए नकदी लाने का आरोप है। बाद में मेंदीरत्ता को भी गिरफ्तार कर लिया गया।

सीबीआई प्रवक्ता आरसी जोशी ने कहा कि फरीदाबाद (हरियाणा), कुल्लू (हिमाचल प्रदेश) और दिल्ली में तलाशी ली गयी। इस क्रम में संपत्ति और वित्तीय लेनदेन से जुड़े दस्तावेज बरामद हुए। सभी गिरफ्तार आरोपियों को अदालत में पेश किया जाएगा।

error: Content is protected !!
Hi !
You can Send your news to us by WhatsApp
Send News!