मंडी में नाबालिग बच्चे के साथ हुई जातीय आधारित हिंसा, इतना मारा कि पीड़ित जोनल हॉस्पिटल में दाखिल

Read Time:2 Minute, 28 Second

हिमाचल में जाति आधारित हिंसा के मामले दिन प्रति दिन बढ़ते जा रहे है। हर ओर दलितों के साथ मारपीट की जा रही है, उनको जातिसूचक शब्दों के साथ अपमानित किया जा रहा है। कई मामले तो इतने संगीन है कि दलितों को गंभीर रूप से घायल किया जा रहा है। यह मामले कुछ साल पहले जीरो थे लेकिन पिछले दो तीन साल में बहुत ज्यादा बढ़ चुके है। इनका प्रमुख कारण बाहरी राज्यों से प्रदेश में आए कुछ जातिवादी संगठन है जोकि सरेआम दलित विरोधी सभाएं करते है, भाषण देते है और सरकार तक को डराते है। जातिवादी संगठन संविधान विरोधी है लेकिन फिर सरकार इन संगठनों पर आंख मूंदे हुए है। सरकार और पुलिस के दलितों के प्रति नकारात्मक रवैये के चलते जाति आधारित उत्पीड़न और प्रताड़ना के मामले बढ़े है।

ऐसे ही मामला मंडी से निकल कर सामने आए है जहाँ, उच्च जाति के गुंडों ने एक दलित नाबालिग लड़के पर जानलेवा हमला किया और बच्चे को इतना मारा की बच्चा वह हॉस्पिटल में पहुंच गया। जानकारी के मुताबिक बच्चा कहीं जा रहा था। उसको रास्ते में लाभ सिंह और रामु नाम के उच्च जाति के लोगों ने पकड़ लिया और नशा करने को कहा, लेकिन बच्चे ने मना किया तो उन्होंने उसको बहुत पूरी तरह मारा पीटा।

जानकारी के मुताबिक दोषियों ने बच्चे को बहुत बुरी तरह डराया धमकाया और पुलिस में शिकायत करने पर जान से मारने की धमकी भी दी। दोषियों ने बच्चे को जातिसूचक शब्दों के अपमानित और प्रताड़ित भी किया। जानकारी के मुताबिक पुलिस इस मामले में कोई भी कार्यवाही नही कर रही थी जिसके चलते पीड़ित की मां ने पुलिस अधीक्षक को शिकायत पत्र दिया उसके बाद सदर मंडी पुलिस ने मामला दर्ज किया है।

error: Content is protected !!
Hi !
You can Send your news to us by WhatsApp
Send News!