पॉक्सो एक्ट के तहत शिक्षक के खिलाफ मामला दर्ज

RIGHT NEWS INDIA: केरल के मलप्पुरम में शिक्षक व सीपीआईएम (CPIM) पार्षद की काली करतूत को छात्राओं ने फेसबुक (Facebook) पर उजागर कर दिया.

फेसबुक पोस्ट में छात्राओं‍ ने टिप्पणी करते हुए शिक्षक पर छेड़छाड़ संबंधित गंभीर आरोप लगाया है. छात्राओं ने कहा कि शिक्षक शशि कुमार कई सालों से स्कूल परिसर में छेड़छाड़ करता था. शिक्षक के खिलाफ शिकायत करने पर भी कोई कार्रवाई नहीं हुई. अब केरल के शिक्षा मंत्री ने शिक्षक के खिलाफ जांच के आदेश दिए हैं.

पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज

शिक्षक व सीपीआईएम पार्षद शशि कुमार के खिलाफ पुलिस ने पॉक्सो एक्ट (POCSO Act) के तहत मामला दर्ज किया है. बता दें कि मलप्पुरम महिला थाने में मामला दर्ज होने के बाद शिक्षक शशि कुमार फरार था, जिसे पुलिस ने एक सप्ताह के बाद गिरफ्तार किया है.

छात्राओं ने लगया मारपीट का आरोप

शिक्षक शशि कुमार पर छात्राओं ने मारपीट के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि शिक्षक ने 60 से अधिक छात्राओं के साथ छेड़छाड़ की है, जिसकी शिकायत छात्राओं ने प्रिंसिपल और प्रबंधन से की थी. लेकिन, शिक्षक ने अपने रसूख का इस्तेमाल करके स्कूल प्रबंधन को चुप करा दिया.

रिटायरमेंट पर शिक्षक ने की थी पोस्ट

मलप्पुरम के सेंट गेमास गर्ल्स हायर सेकेंडरी स्कूल के शिक्षक शशि कुमार 30 वर्षों से स्कूल में पदस्थापित था. अपने रिटायरमेंट पर फेसबुक पोस्ट किया था, जिस पर एक छात्रा ने नीचे टिप्पणी की और बाद में लड़कियों ने टिप्पणी की. इस पोस्ट के बाद सीपीआईएम ने भी शिक्षक को सस्पेंड कर दिया है. वहीं, इन आरोपों का खुलासा होने के बाद केरल के शिक्षा मंत्री वी शिवनकुट्टी ने घटना के जांच के आदेश दिए हैं. शिक्षा मंत्री ने कहा, शिक्षक शशि कुमार के पूरे कार्यकाल की जांची कराई जाएगी.

SHARE THE NEWS:
error: Content is protected !!