संगरूर के पीजीआई सेटेलाइट सेंटर में हो रही 341 पदों पर भर्ती, 265 पद नॉन फैकल्टी के

0
47

चंडीगढ़। पंजाब के संगरूर में पीजीआइ सेटेलाइट सेंटर में 341 पदों पर भर्ती की जाएगी। भर्ती को लेकर रोस्टर तैयार किया जा चुका है। डीडीए कुमार गौरव धवन ने बताया रोस्टर बनने के बाद अब इन पदों पर भर्ती को लेकर आवेदन प्रक्रिया अगले हफ्ते तक शुरू कर दी जाएगी।

भर्ती प्रक्रिया शुरू करने से पहले बकायदा नोटिफिकेशन जारी की जाएगी। इन 341 पदों में से 76 पद फैकल्टी के लिए हैं, जबकि 265 पद नान फैकल्टी के हैं। फैकल्टी के 76 पद में जूनियर डाक्टर, सीनियर डाक्टर और असिस्टेंट प्रोफेसर की भर्ती की जाएगी।

जूनियर और सीनियर डाक्टर के पदों पर भर्ती को लेकर लिखित और इंटरव्यू दोनों होगा, जबकि असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर भर्ती के लिए आवेदकों का केवल इंटरव्यू होगा। डीडीए ने बताया बीते दिनों दिल्ली में उप सचिव भारत सरकार मनोहर अगनानी ने पीजीआइ के तीनों सेटेलाइट सेंटर के मौजूदा निर्माण कार्य को लेकर समीक्षा के दौरान संगरूर सेटेलाइट सेंटर में 341 पदों पर भर्ती प्रक्रिया शुरू करने की अधिकारिक मंजूरी दी थी।

बता दें संगरूर के सेटेलाइट सेंटर में अस्थायी तौर पर ओपीडी संचालित की जा रही है। संगरूर सेटेलाइट सेंटर में ओपीडी ब्लाक, डायरेक्टर का बंगला, हास्पिटल ब्लाक, रेजिडेंशियल यूनिट और हास्टल बनकर तैयार हो चुका है। संगरूर सेटेलाइट सेंटर का निर्माण कार्य आखिरी फेज में चल रहा है, जो अक्टूबर तक पूरा होने की उम्मीद है। इसी के साथ पंजाब के फिरोजपुर में बनने वाले सेटेलाइट सेंटर का जल्द ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शिलान्यास करेंगे।

सेंटर का निर्माण कार्य आखिरी फेज में

बता दें कि इस साल पांच जनवरी को पीएम मोदी की ओर से फिरोजपुर सेटेलाइट सेंटर का शिलान्यास किया जाना था, लेकिन उस समय उनकी सुरक्षा में हुई चूक की वजह से यह कार्यक्रम टालना पड़ा। पीजीआइ चंडीगढ़ के तीन सेटेलाइट सेंटर पंजाब में संगरूर और फिरोजपुर और हिमाचल प्रदेश के ऊना को वर्ष 2024 तक बनाने का लक्ष्य रखा गया है। संगरूर सेटेलाइट सेंटर में पंजाब के लोगों के लिए होगी यह सुविधा पीजीआइ संगरूर सेटेलाइट सेंटर के निर्माण पर 449 करोड़ रुपये खर्च किया जा रहा है। इस सेंटर का निर्माण कार्य आखिरी फेज में है। अस्पताल में मरीजों की सुविधा के लिए 300 बेड की व्यवस्था की गई है। मरीजों के लिए नई तकनीक से लैस आपरेशन थिएटर, सर्जरी रूम, आइसीयू वार्ड, इमरजेंसी, टेलीमेडिसिन सेंटर और नई सुविधा मौजूद रहेंगी।

ऊना सेटेलाइट सेंटर में 300 बेड की सुविधा

ऊना सेटेलाइट सेंटर से हिमाचल के मरीजों को मिलेगा फायदा ऊना सेटेलाइट सेंटर बनने के बाद हिमाचल से पीजीआइ चंडीगढ़ में इलाज के लिए आने वाले मरीजों को इसका फायदा मिलेगा। इस सेंटर पर 495 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे, सेंटर में 300 बेड की सुविधा होगी।

Leave a Reply