10.1 C
Delhi
Wednesday, February 1, 2023
HomeCareer NewsEducation NewsPrimary Teachers: चार हजार शिक्षकों की भर्ती को कैबिनेट में मंजूरी मिलने...

Primary Teachers: चार हजार शिक्षकों की भर्ती को कैबिनेट में मंजूरी मिलने के आसार कम, जाने क्या है बड़ा कारण

प्री प्राइमरी स्कूलों में 4,000 शिक्षकों की भर्ती के इंतजार में बैठे एनटीटी डिप्लोमा धारकों और आंगनबाड़ी वर्करों का इंतजार और बढ़ गया है। 28 जुलाई को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में होने जा रही कैबिनेट बैठक में इस प्रस्ताव को लेकर चर्चा होने के आसार कम हैं।

शिक्षा विभाग के अधिकारी शिक्षक भर्ती नियमों को लेकर पसोपेश में हैं। मंगलवार को राज्य सचिवालय में प्रधान सचिव शिक्षा मनीष गर्ग की अधिकारियों से हुई बैठक में इस मामले को लेकर कोई समाधान नहीं निकल सका। एक या दो वर्ष के नर्सरी टीचर ट्रेनिंग (एनटीटी) डिप्लोमा में किसे भर्ती में प्राथमिकता दी जाए, इसे लेकर फैसला नहीं हो पा रहा है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के चयन को लेकर भी संशय की स्थिति बनी हुई है। भर्ती के लिए इन दोनों वर्गों में अधिकतम आयु वर्ग को तय करने के लिए भी कोई सहमति नहीं बन सकी है।

शिक्षा विभाग के अधिकारी प्रस्ताव को अंतिम रूप नहीं दे सके हैं। ऐसे में वीरवार की कैबिनेट बैठक में इस प्रस्ताव को पेश करने के आसार कम हैं। प्रदेश के प्री प्राइमरी स्कूलों में नर्सरी-केजी कक्षा के बच्चों को पढ़ाने के लिए 4,000 शिक्षकों की भर्ती की जानी है। बीते कई माह से प्री प्राइमरी शिक्षकों की भर्ती का मामला फाइलों में ही घूम रहा है। नेशनल काउंसिल फॉर टीचर एजूकेशन (एनसीटीई) से मान्यता प्राप्त एनटीटी संस्थानों से डिप्लोमा करने वाले ही भर्ती में शामिल होंगे। प्री प्राइमरी स्कूलों में शिक्षकों के 70 फीसदी पद एनटीटी, अर्ली चाइल्ड हुड केयर कोर्स करने वालों और 30 फीसदी पद आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से भरने का प्रस्ताव है। एनसीटीई के नियमों के तहत भर्ती की जानी है।

RELATED ARTICLES

समाचार पर आपकी राय:

- Advertisment -

Most Popular

Special Stories

Bhootnath Mandir Mandi: बाबा भूतनाथ के मंदिर में शताब्दियों से जल रहे 11 दीपक, आंधी-तूफान और बारिश में भी नही बुझते

मंडी: छोटी काशी मंडी में तारा रात्रि की मध्य रात्रि से ही बाबा भूतनाथ के घृतमंडल श्रृंगार की रस्मों के साथ शिवरात्रि महोत्सव का आगाज...
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
error: Content is protected !!