सत्ता में रहने के लिए विरोधियों को ब्लैकमेल कर रही बोरिस जॉनसन सरकार, पुलिस में शिकायत दर्ज करवाएगा सांसद

ब्रिटेन के एक सांसद ने सरकार पर आरोप लगाया है कि वह ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (British PM Boris Johnson) के विरोधियों को ब्लैकमेल कर रही है. इस सांसद ने कहा कि वह अपने आरोप को पुलिस तक ले जाएंगे. सत्ताधारी कंजर्वेटिव पार्टी (UK Conservative Party) के सांसद विलियम व्रैग ने कहा, ‘जॉनसन के नेतृत्व को चुनौती देने की अपील कर रहे सांसदों को ‘धमकाया’ जा रहा है जो ‘ब्लैकमेल’ करने के बरबार है.’ सांसद ने ये आरोप ऐसे वक्त पर लगाया है, जब जॉनसन लॉकडाउन उल्लंघन (Johnson Lockdown Violation) सहित तमाम मुद्दों को लेकर देश में पहले ही घिरे हुए हैं.

व्रैग ने आरोप लगाया कि विरोधी सांसदों को उनके निर्वाचन क्षेत्र के लिए निर्धारित राशि में कटौती करने की धमकी दी जा रही है, और उनके बारे में शर्मनाक बातें लीक होकर प्रेस में आ रही हैं (William Wragg Accusations). मामले में प्रतिक्रिया देते हुए पीएम जॉनसन ने कहा कि व्रैग के दावे का समर्थन करने का कोई सबूत नहीं है. व्रैग ने शनिवार को दैनिक टेलीग्राफ समाचारपत्र से कहा था कि वह अगले हफ्ते की शुरुआत में पुलिस से मिलकर अपने धमकी और बाधा डालने से संबंधित दावे पर चर्चा करेंगे. समाचारपत्र से बातचीत में जॉनसन ने कहा, ‘मैंने जो कुछ भी कहा उस पर कायम हूं, मेरे रुख में कोई बदलाव नहीं आएगा.’

मेट्रोपोलिटन पुलिस फोर्स क्या बोली?

लंदन की मेट्रोपोलिटन पुलिस फोर्स ने कहा, ‘अगर कोई आपराधिक मामला दर्ज कराया जाता है, तो इसे विचार के लिए स्वीकार किया जाएगा.’ लॉकडाउन का उल्लंघन करके पार्टी का आयोजन करने के आरोपों के कारण प्रधानमंत्री जॉनसन फिलहाल राजनीतिक संकट से जूझ रहे हैं. यह पार्टी तब की गई थी, जब पूरे ब्रिटेन में कोरोना वायरस संबंधी पाबंदियां लागू थीं. कंजर्वेटिव पार्टी के व्रैग समेत मुठ्ठीभर सांसदों ने प्रधानमंत्री से इस्तीफा (British PM Boris Johnson) देने की मांग की है, जबकि अन्य सांसद सू ग्रे की रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं. ग्रे एक वरिष्ठ नौकरशाह हैं जिन्हें पार्टीगेट मामले की जांच का जिम्मा सौंपा गया है. माना जा रहा है कि ग्रे की रिपोर्ट अगले हफ्ते तक प्रकाशित हो जाएगी.

क्रिश्चियन वेकफोर्ड को दी गई धमकी

कंजर्वेटिव पार्टी छोड़कर बुधवार को विपक्षी लेबर पार्टी (Labor Party UK) में शामिल होने वाले सांसद क्रिश्चियन वेकफोर्ड ने कहा कि उनसे कहा गया था कि अगर उन्होंने खास तरीके से मतदान नहीं किया, तो उनके निर्वाचन क्षेत्र में नए हाईस्कूल के लिए पैसा नहीं दिया जाएगा. लेबर पार्टी के सांसद और निचले सदन की स्टैंडर्ड समिति के अध्यक्ष क्रिस ब्रयंट ने कहा कि ये दावे खास तरह की अमेरिकी शैली वाली पक्षपातपूर्ण राजनीति के अवशेष हैं. ब्रयंट ने कहा कि वह चाहते हैं कि सांसद (UK MP on Boris Johnson) बिना किसी डर और पक्षपात के काम करें.

SHARE THE NEWS:
error: Content is protected !!