Right News

We Know, You Deserve the Truth…

अमृतसर में खूनी वारदात:2 निहंगों ने प्राइवेट फाइनेंस कर्मी का हाथ काटकर लूट लिए 1500 रुपये, लोन की किस्तों की रिकवरी करके लौट रहा था

पंजाब के अमृतसर जिले में मंगलवार दोपहर लूट की एक खूनी वारदात अंजाम दी गई। दो निहंग फाइनेंस कंपनी के कर्मचारी का हाथ काटकर कैश छीनकर फरार हो गए। कंपनी ब्याज पर लोगों को कर्ज देती है। ब्याज की किस्तों की रिकवरी करके कर्मचारी लौट रहा था। गांव नंगली की सड़क पर निहंगों ने उसे रोक लिया और पैसे मांगे, लेकिन जब उसने पैसे देने से मना कर दिया तो निहंगों ने उसका हाथ काट दिया और उसकी जेब से पैसे निकालकर ले गए। राहगीरों ने वारदात की सूचना पुलिस को दी। लेकिन किसी ने भी पीड़ित आनंद विश्वास की मदद नहीं की।

वहीं जानकारी मिलते ही थाना कंबो पुलिस मौके पर पहुंची और घायल कर्मचारी को उपचार के लिए भिजवाया। पुलिस के अनुसार, प्राथमिक जानकारी में पता चला है कि लूटपाट के इरादे से निहंगों ने आनंद पर हमला किया। लेकिन पुलिस हर एंगल से मामले की जांच कर रही है।

6 दिन पहले लूटे गए थे लाखों रुपये

बता दें कि गत 12 मई को जलालाबाद में कोटक महिंद्रा बैंक के कर्मचारियों से 45 लाख रुपये लूटे गए थे। वारदात जलालाबाद-मुक्तसर रोड स्थित गांव सैदोका के सेमनाले के पुल अंजाम दी गई थी। लूटपाट का मास्टरमाइंड बैंक का डिप्टी मैनेजर गुरप्रताप सिंह निवासी गांव आलमके का निकला।

पुलिस ने 16 मई को डिप्टी मैनेजर और उसके दोस्त डॉ. परमजीत सिंह निवासी प्रभात सिंह वाला उताड़ को गिरफ्तार करके से नकदी, वारदात में इस्तेमाल रिवॉल्वर व कारतूस बरामद कर लिया था। उनका तीसरा साथी गुरप्रीत सिंह उर्फ गोपी निवासी हस्तेके थाना सदर फरार है।

error: Content is protected !!