Right News

We Know, You Deserve the Truth…

भाजपा विधायक की दादागिरी, बिजली विभाग के आफिस में की तोड़फोड़ और अधिकारी को बनाया बंधक

महाराष्ट्र में इन दिनों बिजली के बिल का भुगतान नहीं करने वाले लोगों के कनेक्शन काटने का अभियान चल रहा है। सरकार के इस फैसले का भारतीय जनता पार्टी और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना लगातार विरोध कर रही है।

जलगांव में शुक्रवार को भाजपा विधायक मंगेश चव्हाण ने अपने समर्थकों के साथ बिजली विभाग के दफ्तर में घुसकर जमकर हंगामा और तोड़ फोड़ की। इस दौरान चव्हाण ने एक अधिकारी को काफी देर तक बंधक बना कर रखा। शनिवार को चव्हाण और उनके समर्थकों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। हालांकि, अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

कोई खोल न सके इसलिए ऑफिस के बाहर लगाया गया ताला
घटना जलगांव के चालीसगांव तहसील की है। शुक्रवार को मंगेश चव्हाण के नेतृत्व में जलगांव बिजली वितरण कंपनी के प्रधान कार्यालय में एक आंदोलन किया गया। इसमें तकरीबन 20 से ज्यादा लोग शामिल थे। नाराज भाजपा कार्यकर्ताओं ने बिजली वितरण कंपनी के अधिकारी मोहम्मद शेख को उनकी कुर्सी से बांधकर कई घंटों तक बंधक रखा। यही नहीं कोई उन्हें खोल न सके इसलिए उनके कार्यालय के बाहर ताला जड़ दिया। इस घटना का एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें विधायक और उनके समर्थक दफ्तर में हंगामा और नारेबाजी करते हुए नजर आ रहे हैं।

बंधक बनाने पर मंगेश चव्हाण का तर्क
अधिकारी को बंधक बनाने की बात स्वीकार करते हुए विधायक मंगेश चव्हाण ने शनिवार को कहा कि चालीसगांव तहासिल में 7,000 किसानों के बिजली कनेक्शन काट दिए गए हैं। किसान बिलों का भुगतान करने के लिए तैयार हैं, फिर भी अधिकारी उन्हें स्पष्ट जवाब नहीं दे रहे हैं। इसलिए नाराज किसानों ने अधिकारी को कुर्सी से बांध दिया। हालांकि, उन्होंने यह भी चेतावनी दी कि अगर सरकार ने समय पर ध्यान नहीं दिया, तो मंत्री भी कुर्सी से बांधे जाएंगे।

error: Content is protected !!