आम आदमी पार्टी की पूर्व विधायक एवं महिला मोर्चा की प्रदेश प्रभारी सरिता सिंह ने कहा कि भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष ने कार्यालय के अंदर महिला मोर्चा की पूर्व अध्यक्ष के साथ बदसलूकी की, लेकिन अभी तक शीर्ष नेतृत्व ने उन पर कोई कार्रवाई नहीं की है। उन्होंने कहा कि भाजपा की मानसिकता महिला विरोधी है और संगठन में महिला पदाधिकारियों का कोई सम्मान नहीं है। पहले भी महिला पदाधिकारियों के साथ बदसलूकी हो चुकी है। सरिता सिंह ने कहा कि अगर भाजपा अपनी महिला पदाधिकारी की सुरक्षा सुनिश्चित नहीं कर सकती है, तो वो दिल्ली की महिलाओं की सुरक्षा कैसे कर सकती है? भाजपा प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता बताएं कि उन्होंने प्रदेश उपाध्यक्ष के खिलाफ क्या कार्रवाई की? ‘आप’ इस मामले की जांच कर कार्रवाई की मांग करती है।

पार्टी मुख्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए आम आदमी पार्टी की पूर्व विधायक एवं महिला मोर्चा की प्रदेश प्रभारी सरिता सिंह ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी में जब अपनी ही महिला कार्यकर्ताओं का सम्मान दाव पर लगा हुआ है, तो भाजपा दिल्ली और देश की महिलाओं के आत्मसम्मान की सुरक्षा कैसे कर सकती है? करीब 4 दिन पहले हुई घटना का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा की महिला मोर्चा की पूर्व अध्यक्ष पूनम पराशर जी के साथ भाजपा के ही दिल्ली प्रदेश उपाध्यक्ष राजन तिवारी जी ने भाजपा के ही कार्यालय में बदसलूकी की, अभद्र व्यवहार किया। उन्होंने कहा कि यह आरोप आम आदमी पार्टी का नहीं है, बल्कि खुद भाजपा की महिला मोर्चा की पूर्व अध्यक्ष पूनम पराशर ने प्रदेश उपाध्यक्ष राजन तिवारी जी पर यह आरोप लगाए हैं। इस संबंध में अखबारों में छपी खबर का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि इस घटना को बीते करीब 4 से 5 दिन हो चुके हैं, परंतु अभी तक ना तो भाजपा के किसी बड़े नेता ने और ना ही दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता जी ने इस संबंध में किसी प्रकार का कोई विरोध, किसी प्रकार की कोई कार्यवाही की है।

उन्होंने कहा कि यह कोई पहली घटना नहीं है कि जब भारतीय जनता पार्टी के अपने ही पदाधिकारी, अपनी ही पार्टी की महिला कार्यकर्ताओं के साथ बदसलूकी कर रहे हैं। पूर्व में हुई एक घटना का हवाला देते हुए उन्होंने बताया कि अभी लगभग साल भर पहले की ही घटना है। भाजपा के कार्यालय में ही भाजपा की एक महिला कार्यकर्ता के साथ मारपीट की गई थी। यह खबर भी तमाम न्यूज़ चैनलों पर दिखाई गई और अखबारों में छापी गई थी। उन्होंने कहा कि जब भाजपा की जो अपनी महिला कार्यकर्ता हैं, उनका अपने ही संगठन में, अपनी ही पार्टी में कोई सम्मान नहीं है, तो भाजपा से कैसे उम्मीद की जाए कि वह दिल्ली और देश की महिलाओं के सम्मान का ध्यान रख सकेगी।

मीडिया के माध्यम से प्रश्न पूछते हुए सरिता ने कहा कि इस घटना को बीते लगभग 4 से 5 दिन हो चुके हैं। हम भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता जी से पूछना चाहते हैं कि उन्होंने आरोपी राजन तिवारी जी के खिलाफ क्या कार्यवाही की?

उन्होंने कहा कि समय-समय पर भारतीय जनता पार्टी के अंदर अपने ही महिला कार्यकर्ताओं के साथ उत्पीड़न के मामले सामने आते रहे हैं। यह घटना भी भाजपा की महिला विरोधी मानसिकता को उजागर करती है। 4 से 5 दिन बीत गए हैं, परंतु अभी तक भारतीय जनता पार्टी के किसी भी बड़े नेता की ओर से इस घटना को लेकर कोई बयान नहीं आया है। उन्होंने कहा कि यदि भारतीय जनता पार्टी आरोपी राजन तिवारी जी के खिलाफ कोई सख्त कार्यवाही नहीं करती, तो यह बात सत्यापित हो जाएगी कि भारतीय जनता पार्टी एक महिला विरोधी पार्टी है, भारतीय जनता पार्टी में अपनी ही महिला कार्यकर्ताओं का कोई सम्मान नहीं है। हम इस घटना की कड़ी निंदा करते हैं और भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से मांग करते हैं कि जल्द से जल्द इस संबंध में कोई सख्त कदम उठाए जाए और भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष राजन तिवारी जी के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही की जाए।

error: Content is protected !!