पंजाब के लुधियाना जिले में एक हत्या के मामले में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। एक माह पहले यहां के कंगनवाल इलाके में एक खाली प्लॉट में महिला का शव मिला था। लुधियाना पुलिस मामले की जांच कर रही थी। लंबी पड़ताल के बाद पुलिस आरोपी तक पहुंच गई और उसे धर दबोचा है। 

कंगनवाल इलाके में एक माह पहले मिले महिला के शव की पहचान 30 वर्षीय राधा के रूप में हुई है। राधा की हत्या किसी और ने नहीं, बल्कि उसके भिखारी प्रेमी ने की थी और शव खाली प्लॉट में फेंककर फरार हो गया था। आरोपी ने दूसरी प्रेमिका के जाल में फंसकर और खुद को बचाने के लिए मफलर से गला दबाकर राधा की हत्या की थी। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। 

ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर देहात डॉ. सचिन गुप्ता ने बताया कि मोनू राम मूलरूप से उत्तराखंड के बागेश्वर का रहने वाला है। यहां वह ढोलेवाल के पास एक किराए के कमरे में रहता था और पैसे मांगकर रोजी-रोटी चलाता था। राधा के साथ उसके पिछले चार साल से प्रेम संबंध थे। थाना कोतवाली में आरोपी मोनू राम के खिलाफ लगभग एक वर्ष पहले चोरी का केस दर्ज हुआ था।

इस कारण वह छह माह जेल में रहा और बाहर आने के बाद छह माह तक गायब रहा। इस बीच उसके किसी अन्य युवती से प्रेम संबंध बन गए। इस बारे में राधा को पता चल गया और दोनों का इसी बात को लेकर काफी झगड़ा भी हुआ। राधा ने मोनू राम को धमकी दी थी कि अगर वह उस युवती से संबंध नहीं तोड़ेगा तो वह कोतवाली थाने में शिकायत देकर उसे दोबारा जेल भिजवा देगी। क्योंकि चोरी के केस में वह पहले भी जेल जा चुका था।

इस धमकी के बाद मोनू राम काफी डर गया। उसने तुरंत राधा से संपर्क किया और उसे बहका फुसला कर कंगनवाल में खाली प्लॉट में बुलाया। वहां दोनों में काफी बहस हुई और उसके बाद आरोपी ने गला दबाकर उसकी हत्या कर दी और मफलर को गले में ही छोड़कर फरार हो गया। 

error: Content is protected !!