गाजीपुर में नाविक को गंगा किनारे मिला लकड़ी का बॉक्स, खोला तो जन्म कुंडली के साथ चुनरी में लिपटी नवजात मिली

Read Time:4 Minute, 8 Second

उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में मंगलवार को गंगा में उतराता हुआ लकड़ी का बॉक्स दिखाई दिया। नदी किनारे रह रहे एक नाविक ने जब बॉक्स खोलकर देखा, तो उसमें एक नवजात बच्ची मिली। बॉक्स में मां दुर्गा की फोटो के साथ कई देवी-देवताओं के फोटो लगे थे। इसमें एक जन्म कुंडली भी मिली है। बच्ची को पुलिस आशा ज्योति केंद्र ले गई है। बच्ची पूरी तरह स्वस्थ बताई जा रही है।

मामला सदर कोतवाली क्षेत्र के ददरी घाट का है। यहीं रहने वाले गुल्लू चौधरी मल्लाह हैं। उन्होंने पुलिस को बताया कि मंगलवार शाम उन्हें नदी के किनारे लकड़ी का बॉक्स मिला। उसमें से रोने की आवाज आ रही थी। मल्लाह को देख घाट पर मौजूद कुछ और लोग भी जुट गए। लोगों ने बॉक्स खोला तो दंग रह गए। इसमें बच्ची चुनरी में लिपटी मिली।

बच्ची का खर्च सरकार उठाएगी, नाविक को मिलेगा इनाम
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नवजात बच्ची का चिल्ड्रन होम में रख कर पालन-पोषण करने का आदेश दिया है। सीएम योगी ने जिलाधिकारी गाजीपुर को आदेश दिया कि नवजात बच्ची को चिल्ड्रेन होम में रखा जाए और सरकारी खर्चे पर उसका पालन पोषण हो। साथ ही जिस नाविक ने उस बच्ची की जान बचाई थी उसे भी सरकारी आवास समेत सभी सुविधाएं मुहैया कराई जाए।

कुंडली में जन्म की तारीख 25 मई
जन्म कुंडली मे बच्ची का नाम गंगा लिखा था। उसका जन्म 25 मई को हुआ है। यानी उसकी उम्र महज तीन हफ्ते है। मासूम को नाविक अपने घर ले गया। उसके परिजन बच्ची को पालना चाहते थे, लेकिन स्थानीय लोगों ने मामले की सूचना पुलिस को दे दी।

चर्चा- अनुष्ठान के लिए ऐसा किया गया
सूचना पर पुलिस टीम नाविक के घर पहुंची और बच्ची को आशा ज्योति केंद्र ले गई। फिलहाल गंगा में मिली नवजात क्षेत्र में चर्चा का विषय बनी हुई है। पुलिस बच्ची की मेडिकल जांच कराकर उसके परिजनों की तलाश कर रही है। चर्चा है कि ऐसा किसी अंधविश्वास या तांत्रिक अनुष्ठान को पूरा करने के लिए किया गया है।

डीएम ने बच्ची के सेहत का अपडेट लिया, नाविक को नाव मिलेगी

गाजीपुर के डीएम मंगला प्रसाद सिंह आज महिला अस्पताल पहुंचे और नवजात की सेहत का अपडेट लिया। उन्होंने डॉक्टरों से बच्ची के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली। इसके बाद डीएम गंगा में बच्ची पाने वाले नाविक गुल्लू चौधरी के घर भी पहुंचे। डीएम ने नाविक से पूरे मामले को लेकर बात की। नाविक की मांग पर उन्होंने नाविक को 1 नाव देने का निर्देश दिया। डीएम ने बताया कि, सीएम के निर्देश पर बच्ची के पालन पोषण के लिए जरूरी कार्यवाही की जा रही है।

error: Content is protected !!
Hi !
You can Send your news to us by WhatsApp
Send News!