आजाद छात्र संगठन ने चीन की कम्युनिस्ट पार्टी की 100वी वर्षगांठ पर मनाया काला दिवस

Read Time:2 Minute, 9 Second

Himachal News: चीन की कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चीन (सीपीसी) की 100वीं वर्षगांठ को मैक्लोडगंज में तिब्बत आजाद छात्र संगठन ने काला दिवस के रूप में मनाया। चीन के राष्ट्रपति सी जिनपिंग की प्रतिमूर्ति को रक्त (लाल रंग) से भरे बाथ टब में नहाते हुए दिखाकर तिब्बतियों के साथ हो रहे जुल्मों की दास्तां का प्रदर्शन किया। तिब्बत आजाद छात्र संगठन (एसटीएफ) की राष्ट्रीय निदेशक रिंजन ने कहा कि सौ साल पहले आज के दिन चीन की कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चीन (सीपीसी) अस्तित्व में आई थी। चीन इसे ऐतिहासिक दिन और राष्ट्रीय दिवस के तौर पर सेलिब्रेट कर रहा है। चीन के आतंक का दंश झेल रहे कुछ देश ऐसे भी हैं, जो इस दिन को काला दिवस के रूप में मना रहे है।

उनमें निर्वासित तिब्बतियन भी हैं। निर्वासित तिब्बतियों की मानें तो चीन एक ऐसा देश है, जहां मानव अधिकार नाम की कोई चीज नहीं है। चीन मानव अधिकारों की पैरवी करने का ढोंग रचता है। रिंजन ने कहा कि आज चीन की ओर से अवैध रूप से हथियाए गए देशों में से तिब्बत समेत हांगकांग, तुर्कीस्तान, सर्दन मंगोलिया और ताईवान चीन की दमनकारी नीतियों का विरोध करते हुए काला दिवस मना रहे है। कहा कि तिब्बत के एक राजनीतिक कैदी कुंचुम जीमा को चीन की जेलों में इतना प्रताड़ित किया गया कि उनकी मौत हो गई। बाद में चीन ने दिखावा करते हुए दिखाया कि उसकी मौत अस्पताल में हुई है।

error: Content is protected !!
Hi !
You can Send your news to us by WhatsApp
Send News!