आज विधानसभा सत्र के दौरान बहुप्रतिक्षित औट-लुहरी राष्ट्रीय  राजमार्ग व इसी मार्ग पर जलोड़ी दर्रे के नीचे से बनने वाली सुरंग का मामला विधायक बंजार विधानसभा क्षेत्र सुरेन्द्र शौरी ने जोर-शोर से उठाया। जिसका मुख्यमंत्री ने विस्तृत जबाव दिया। विधायक बंजार ने वर्ष 2012 में राष्ट्रीय राजमार्ग की अधिसूचना के बाद से लेकर इस राजमार्ग के निर्माण कार्य को शुरु करवाने में हो रही देरी पर विधानसभा में सवाल उठाया। सवाल का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा नियमित रुप से भारत सरकार सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय से पत्राचार किया जा रहा है। राष्ट्रीय राजमार्ग व जलोड़ी दर्रे के समीप बनने वाली सुरंग के निर्माण कार्य के लिये भू-अधिग्रहण एवं वन सरंक्षण अधिनियम के अतिरिक्त कार्य के लिये विभाग द्वारा सलाहकार की नियुक्ति के लिये निविदाएं आमंत्रित की जा रही हैं, जिस पर भू-तल परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय द्वारा स्वीकृति मिलने पर निर्माण की आगामी प्रक्रिया अमल में लाई जाएगी।

इस राष्ट्रीय राजमार्ग को डबल लेन बनाने के लिये मु0 1563.99 करोड़ रु की डीपीआर तैयार की गई है। जिसमें 4.20km की लम्बाई वाली जलोड़ी टनल के काम के लिए कुल लागत 364.65 करोड़ रु0 निर्धारित की गई है। वर्तमान में विभाग द्वारा जलोड़ी टनल के निर्माण के लिए टेंडर बेसड एस्टीमेट तैयार किया जा रहा है, जिसे जल्द ही केंद्र सरकार के समक्ष स्वीकृति के लिए भेज दिया जाएगा। केंद्र सरकार से सलाहकार की नियुक्ति की स्वीकृति प्राप्त होते ही वन सरंक्षण अधिनियम के अन्तर्गत दस्तावेजी प्रक्रिया को अमल में लाया जाकर, भू-अधिग्रहण की प्रक्रिया को शुरू किया जाएगा। युवा विधायक बंजार विधानसभा क्षेत्र सुरेन्द्र शौरी ने कहा कि कुल्लू-मनाली राष्ट्रीय राजमार्ग का फोर लेन का कार्य पूर्ण होने को है। ऐसे में बंजार से लारजी सड़क का डवल लेन मार्ग बनना अति आवश्यक है। समूचे कुल्लू जिला में पर्यटन व्यवसाय एक नए अलग ही स्तर पर पंहुच गया है। ऐसे में बंजार घाटी में पर्यटकों की सुगम आवाजाही के लिये औट-लुहरी राष्ट्रीय राजमार्ग का जल्द जल्द से तैयार होना बेहद जरूरी है।

You have missed these news

error: Content is protected !!