उज्जैन: कोतवाली पुलिस का मानवीय चेहरा सोमवार को नजर आया। थाने पर सोमवार दोपहर एक वृद्धा पहुंच गई। उसने थाने पर मौजूद एएसआइ से कहा कि दो दिन से भूखी हूं और उसके दो नाती भी घर पर हैं, उन दोनों ने भी कुछ नहीं खाया है। कुछ मदद कर दो, इस पर एएसआइ ने उसे खाना खिलवाया और किराना सामान दिलवाकर पुलिस वाहन से घर तक छोड़कर आए। वृद्धा को नकद रुपये भी दिए गए। इसके अलावा वी केयर संस्था के माध्यम से भी उसे किराना सामान दिलवाया गया। इससे महिला काफी खुश हो गई।

एएसआइ चंद्रभान ने बताया कि सोमवार को वह पेट्रोलिंग वाहन पर ड्यूटी पर थे। दोपहर में वह थाने पहुंचे तो एक वृद्धा थाने आई थी। उसने दोनों हाथ जोड़कर कहा कि वह दो दिन से भूखी है कुछ मदद कर दो, मेरे दो छोटे नाती हैं, दोनों ने भी कुछ नहीं खाया है।

इस पर पुलिसकर्मियों ने पहले तो वृद्धा को आराम से बैठाकर पानी पिलाया और फिर पुलिस के लिए आने वाले खाने के पैकेट वृद्धा को खाने के लिए दे दिए। इसके बाद एएसआइ चंद्रभान ने अपनी ओर से वृद्धा को कुछ किराना सामान व नकद रुपये दिए। इसके बाद वी केयर संस्था के कपिल जैन से चर्चा कर उस महिला की मदद करवाई। संस्था की ओर से वृद्धा को काफी किराना सामान दिया गया। सामान लेकर महिला जाने में असमर्थ थी इस पर पुलिसकर्मियों ने उसे पेट्रोलिंग वाहन से ही कार्तिक मेला मैदान में बनी उसकी झोपड़ी तक छोड़ दिया।

error: Content is protected !!