साहब-साहब हमें गिरफ्तार कर लीजिए, हम गौ तस्कर हैं, हाथ उठा कर थाने पहुंचे गौ तस्कर

Read Time:4 Minute, 29 Second

 ”साहब-साहब हमें गिरफ्तार कर लीजिए. हम गौ तस्कर हैं और पुलिस हमारे पीछे पड़ी हुई है. हमें डर है कि पुलिस मुठभेड़ में हमें गोली मारकर घायल ना कर दे. हमारे खिलाफ गौ तस्करी का मुकदमा दर्ज है. भविष्य में इस तरह का अपराध हम नहीं करेंगे. इस बार माफ कर दीजिए.” ये सुनकर इंस्पेक्टर दिनेश कुमार चिकारा और थाने में मौजूद पुलिसकर्मी और फरियादी दंग रहे गए.

इंस्पेक्टर के कहने पर पुलिस ने दोनों से पूछताछ की और गिरफ्तार कर हवालात में बंद कर दिया.

फरार चल रहे थे आरोपी
उत्तर प्रदेश में आजकल पुलिस का इकबाल जागा हुआ है. दहशत के कारण बदमाश आत्मसमर्पण करने के लिए थानों में पहुंच रहे हैं. गौ तस्करी के दो आरोपी इसी डर के कारण दोघट थाने पहुंचे और पुलिस के सामने आत्मसर्मपण कर दिया. दरअसल, फौलादनगर गांव के जंगल में एक माहीने पहले कुछ गौ वंश बंधे मिले थे. सूचना के बाद पुलिस ने गौ वंश को मुक्त कर दिया था. मुकदमा दर्ज कर पुलिस की विवेचना शुरू हुई तो सात आरोपियों के नाम सामने आए. जिनमें से पुलिस ने फुरकान, गुलफाम, उस्मान, मेहरदीन और नावेद को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था जबकि इकराम पुत्र नूरा और रिजवान पुत्र नसीर निवासी फौलादनगर फरार चल रहे थे.

नहीं करेंगे अपराध
पुलिस के डर से दोनों आरोपी हाथ उठाकर दोघट थाने पहुंचे और थाने में घुसते ही दोनों ने हाथ उठा लिए. दोनों आरोपियों ने कहा कि हमारे खिलाफ गौ तस्करी का मुकदमा दर्ज है, हमें गिरफ्तार कर लीजिए. पुलिस चौकी पर तैनात सिपाही हमारे पीछे पड़े हुए हैं. हमें डर है कि पुलिस मुठभेड़ में हमें गोली ना लग जाए. आगे से ऐसा अपराध नहीं करेंगें. ये सुनकर इंस्पेक्टर दिनेश कुमार चिकारा ने दोनों से पूछताछ कर मुकदमा देखा और दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया.

Get news delivered directly to your inbox.

Join 875 other subscribers

error: Content is protected !!
Hi !
You can Send your news to us by WhatsApp
Send News!