जम्मू-कश्मीर के द्रास सेक्टर में तैनात भारतीय सेना का एक जवान हिमस्खलन में शहीद हो गया। यह घटना टाइगर हिल इलाके में हुई जहां महाराष्‍ट्र के बुलढाणा जिले के निवासी सैनिक पर अचानक बर्फ का ढेर आ गिरा और वह उसमें दब गया। काफी खोजबीन के बाद बर्फ के नीचे सैनिक का पार्थिव शरीर दबा मिला।

महाराष्‍ट्र के बुलढाणा जिले के सिंदखेड़राजा तहसील के प्लसखेड़ चक्का गांव निवासी प्रदीप साहेबराव मांदले को द्रास सेक्टर के टाइगर हिल कैंपस पर तैनात किया गया था। वह मुस्‍तैदी के साथ अपनी ड्यूटी कर रहा था कि 15 दिसम्बर को उस पर बर्फ का बड़ा सा टुकड़ा गिर गया जिसमें दब जाने से किसी को पता भी नहीं चल सका। जब उन्‍हें न‍िकाला गया तो वह शहीद हो चुके थे। उनका पार्थिव शरीर पैतृक निवास पर भेजा गया जहां अंतिम संस्कार हुआ।

शहीद जवान प्रदीप मांदले के भाई ने कहा है कि वह 15 दिनों की छुट्टी में अगस्त महीने में अपने गांव आए थे। मेरा भाई देश की सुरक्षा करते हुए शहीद हुआ है, इसलिए पूरे परिवार को उसकी शहादत पर गर्व है। प्रदीप मांदले 10 महार रेजिमेंट में वर्ष 2009 में भर्ती हुए थे। प्रदीप के 2 छोटे भाई हैं जिसमें एक फौज में है तो दूसरा भाई कृषि सहायक है। शहीद प्रदीप मांदले की पत्नी और 3 बेटे हैं।

By

error: Content is protected !!