जिला स्तरीय भर्ती के बजाय राज्य कैडर में नियुक्ति, बेरोजगार शास्त्री शिक्षकों ने किया विरोध

Read Time:2 Minute, 47 Second

हिमाचल प्रदेश शिक्षा विभाग द्वारा प्रदेश के विभिन्न जिलों में शास्त्री अध्यापकों की भर्ती के बाद गत सप्ताह नियुक्ति पत्र जारी करने के बाद बेरोजगार शास्त्री अध्यापकों ने इसका कड़ा विरोध करते हुए सरकार व शिक्षा विभाग से न्याय की गुहार लगाई है । बेरोजगर शास्त्री अध्यापकों में मनोज, करण, मनीष, मंजु, सपना, पूजा, कमलेश, राहुल और संदीप ने कहा कि शिक्षा विभाग द्वारा शास्त्री अध्यापकों की जिला स्तर पर बैचवाइज भर्ती करने की प्रक्रिया अमल में लाई गई, जिसमें इस बार यह भर्ती प्रक्रिया को बिना कोई पूर्व सूचना के स्टेट स्तर पर भर्ती की गई, जिसमें कई शास्त्री अभ्यर्थियों द्वारा एक से ज्यादा जिलों में अप्लाई करते हुए विभाग की फाइनल लिस्ट में तीन से चार जिलों में जगह पाई गई है, जबकि उक्त शास्त्री अध्यापक द्वारा इच्छानुसार मात्र एक ही स्कूल में ज्वाइन किया जाएगा, जिससे इस जिला स्तरीय बैचवाइज भर्ती में नौकरी की आस लिए बैठे बेरोजगर शास्त्री अध्यापकों को मात्र निराशा ही हाथ लगी।

बेरोजगार शास्त्री अध्यापकों ने भर्ती प्रक्रिया को जिला स्तर बैचवाइज न करते हुए इसे स्टेट वाइज करने की प्रक्रिया पर कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुए सरकार व विभाग से जल्द से जल्द इस मामले में जांच करते हुए न्याय की मांग की है। बेरोजगर शास्त्री अध्यापकों का कहना है कि इस मर्तबा जिला स्तर की बैचवाइज भर्ती में जिला से मात्र 20 से 30 प्रतिशत ही लोग ही इसमें शामिल हो पाए, क्योंकि बाहरी जिलों से 50 से 70 प्रतिशत शास्त्री अध्यापकों इस भर्ती में पहुंचे थे। बेरोजगर शास्त्री अध्यापकों ने सरकार व शिक्षा विभाग से शास्त्री अध्यापकों की इस भर्ती का कड़ा विरोध करते हुए इसे निरस्त करते हुए नए सिरे से भर्ती करते हुए राहत प्रदान करने की मांग की है।

Your Opinion on this News:

error: Content is protected !!
Hi !
You can Send your news to us by WhatsApp
Send News!