कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच हिमाचल शिक्षा विभाग ने बड़ा फैसला लिया है। 10वीं और 12वीं कक्षा को छोड़कर सभी कक्षाओं के बच्चों को प्रमोट करने का निर्देश दिया गया है। आदेश के मुताबिक शैक्षणिक सत्र 2020-21 के छात्रों को अगली कक्षा में प्रमोट किया जाएगा। इसके साथ ही कोविड के कारण बोर्ड की परीक्षा नहीं दे पाने वाले छात्रों को दो माह का अतिरिक्त समय भी दिया जाएगा। उच्चतर शिक्षा विभाग की ओर से आदेश जारी किया गया है।

इधर, हिमाचल के अधिकारियों और कर्मचारियों को कोरोना के बीच विभागीय परीक्षा देनी होंगी। इस संबंध में निर्देश जारी कर दिए गए हैं। हिमाचल प्रदेश विभागीय परीक्षा बोर्ड ने प्रेस नोट जारी कर जानकारी दी कि प्रदेश सरकार के विभिन्न श्रेणियों के पात्र अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए विभागीय परीक्षाएं 17 से 25 मई 2021 तक आयोजित होंगी। भारतीय प्रशासनिक सेवा, हिमाचल प्रदेश प्रशासनिक सेवा, भारतीय वन सेवा, हिमाचल प्रदेश वन सेवा, तहसीलदार, नायब तहसीलदार और अन्य समस्त राजपत्रित अधिकारी, पात्र अराजपत्रित अधिकारी (अधीक्षक ग्रेड-वन, वरिष्ठ सहायक) और आबकारी एवं कराधान विभाग के निरीक्षकों की परीक्षा इस दौरान होगी। हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड के राजपत्रित अधिकारी, पात्र अराजपत्रित अधिकारी, हिमाचल प्रदेश राज्य विद्युत बोर्ड लिमिटेड के अभियन्ताओं और हिमाचल प्रदेश पर्यटन विकास निगम के वरिष्ठ प्रबन्धकों/सहायक अभियन्ताओं के लिए निर्धारित डेटशीट के अनुसार परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी।

हिमाचल में कोरोना के मामलों में लगातार बढ़ौतरी हो रही है। प्रदेश में हर रोज सैकड़ों नए मामले सामने आ रहे हैं। लाहौल-स्पीति जिले को छोड़कर अन्य जिलों में कोरोना एक बार फिर से डरा रहा है। लाहौल-स्पीति को कोविड से बचाए रखने के लिए सरकार सख्त कदम उठा सकती है। कैबिनेट मंत्री राम लाल मारकंडा ने साफ किया कि अगर मामले बढ़ते हैं तो लाहौल जाने वाले हर व्यक्ति का कोरोना टेस्ट किया जाएगा।

अटल टनल क्रॉस करने के बाद सीसू में रेपिड टेस्ट करवाया जाएगा। उन्होंने कहा कि कुल्लू और मंडी में स्थिति बिगड़ने पर ये फैसला लिया जाएगा। जिले के डीसी और एसपी से इस संबंध में चर्चा की गई है। उन्होंने कहा कि मार्ग खुलते ही हर रोज हजारों गाड़ियां अटल टनल क्रॉस कर लाहौल-स्पीति पहुंच रहे हैं।

error: Content is protected !!