सराज में वीरभद्र सिंह के निधन पर सभी दलों ने दी श्रधंजलि, कहा, हुआ एक युग का अंत

Read Time:2 Minute, 41 Second

प्रदेश के छः बार रहे मुख्यमंत्री व हिमाचल के लोगों के दिलों व रहने वीरभद्र सिंह के निधन से पूरा हिमाचल बाजार से गांव तक सन्नाटा छा गया है। बच्चे से लेकर बजुर्ग, महिलाएं और युवा सभी लोग इस नेता के निधन के समाचार लेकर क्षुब्ध है। राजनैतिक तौर पर भी भाजपा, कांग्रेस, कम्युनिस्ट सभी दलों के नेता भी इस महान आत्मा को याद कर रहे है। सराज विधानसभा क्षेत्र के गांवों में राजा वीरभद्र सिंह की फोटो देकर श्रंदाजली भी दी। सराज विधानसभा क्षेत्र से वरिष्ठ व पूर्व में रहे भाजपा मंड़ल अध्यक्ष डोले राम ने कहा कि राजा वीरभद्र सिंह एक ऐसे व्यक्ति थे जो गरीब लोगों के हित में बिना राजनैतिक भाव के कार्य करते थे उनके निधन से एक युग का अंत हो गया है।

उन्होंने कहा कि 1994 में वह एक साधारण व्यक्ति होकर विधानसभा गये थे और उसे दौरान एक प्राथमिक पाठशाला की मांग की थी और उसे मौके पर खोलने के आदेश दिये थे जबकि वह विधानसभा शिमला में पहली बार गए थे। उन्होंने कहा मामले को उन्होंने स्थानीय विधायक के पास कई बार कह चुके थे लेकिन आवश्वासन के सिवा कुछ नही मिला था जबकि राजा बीरभद्र सिंह ने उनके सामने ही पाठशाला खोलने के आदेश दिये थे। वहीं सराज विधानसभा क्षेत्र के थुनाग में पार्टी के कार्यकताओं ने श्रद्धाजली दी। सराज विधानसभा भाजपा के नेता बीर सिंह भारद्वाज, सराज कांग्रेस मंड़ल के अध्यक्ष टेक सिंह, सतीश शर्मा, हेम राज, गीता शर्मा, पूर्व जिला परिषद संत राम, नरतप राम, भारत की नौजवान सभा के अध्यक्ष महेंद्र राणा सहित हजारों लोगों ने राजा वीरभद्र सिंह के निधन पर अपना गहरा शोक प्रकट किया है और परिवार के प्रति अपनी संवदना प्रकट की है और परिवार को इस दु़ख की घड़ी में साहस देने की प्रार्थना की है।

error: Content is protected !!
Hi !
You can Send your news to us by WhatsApp
Send News!