एयरो इंडिया 2021 एशिया के सबसे बड़े शो का हुआ आगाज

एशिया का सबसे बड़े एयर शो ‘एयरो इंडिया 2021’ का आगाज हो गया है।बेंगलुरु के येलाहांका एयरफोर्स स्टेशन पर आयोजित हुए इस शो में भारत के अलावा 14 देश हिस्सा ले रहे हैंं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस कार्यक्रम को रक्षा और एरोस्पेस के क्षेत्र मे सहयोग का अद्भुत मंच बताया और कहा कि इन क्षेत्रों में किए जा रहे सुधारों से भारत के आत्मनिर्भर बनने के प्रयासों को बल मिलेगा। कोरोना की वजह से पहली बार शो में वर्चुअल एंट्री की व्‍यवस्‍था की गई है। 

पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा कि रक्षा और एरोस्पेस के क्षेत्र में भारत में असीमित क्षमता है। इन क्षेत्रों में सहयोग के लिए एरो इंडिया एक अद्भुत मंच है। भारत सरकार ने इन क्षेत्रों में भविष्य की दृष्टि से सुधार किए हैं जो आत्मनिर्भर बनने की हमारी कोशिशों को बल देगा। सरकार के मुताबिक इस आयोजन में आत्मनिर्भर भारत की झलक दिखाई देगी और ‘मेक इन इंडिया’ पर जोर होगा। 

वहीं रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने एयरो इंडिया का उद्घाटन करते हुए कहा कि वैश्विक महामारी के कारण उत्पन्न बाधाओं के बावजूद, इस वर्ष के आयोजन में इतनी बड़ी संख्या में प्रतिभागियों को देखकर मुझे प्रसन्नता हुई। एयरो इंडिया 21 भारत की विशाल क्षमता और हमारे देश में डिफेंस और एयरोस्पेस के क्षेत्र में विविध अवसरों को प्रदर्शित करेगा। इस दौरान सरकार ने भारतीय वायुसेना के लिए सरकारी हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटिड से 83 तेज हल्के लड़ाकू विमान खरीदने का 48000 करोड़ रुपये का सौदा आधिकारिक रूप से करेगी। 

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, वायुसेना के शीर्ष अफसर और हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटिड (एचएएल) के वरिष्ठ अधिकारियों की मौजूदगी में बेंगलुरू में एयरो इंडिया एयर शो के दौरान अनुबंध पर हस्ताक्षर हुए। प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली सुरक्षा मामलों पर मंत्रिमंडल की समिति (सीसीएस) ने घरेलू रक्षा खरीद के तहत करीब 48,000 करोड़ रुपये की लागत से 83 तेजस विमान खरीदने को 13 जनवरी को मंजूरी प्रदान की थी । इसके तहत 73 हल्के लड़ाकू विमान (एलसीए) तेजस एमके-1ए विमान और 10 तेजस एमके-1 प्रशिक्षण विमान शामिल हैं। 

बता दें कि एयरो इंडिया शो एयरोस्पेस और डिफेंस सेक्टर के लिए एशिया की सबसे बड़ी और दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी प्रदर्शनी है। इसमें अलग-अलग एयरफोर्स के नए विमानों, हथियारों और तकनीकों का बेंगलुरु के येलाहांका एयरफोर्स स्टेशन पर प्रदर्शन किया जाता है। प्रदर्शनी के साथ ही पब्लिक एयर शो भी होता है, जिसमें विमान अलग-अलग फॉर्मेशन में करतब दिखाते हैं। शो में देश-विदेश की 600 कंपनियां शामिल हो रही हैंं। इस वर्ष 203 कंपनियां वर्चुअल रूप में अपने हथियारों और दूसरे सैन्‍य सामान प्रदर्शित करेंगी। वर्चुअल होने की वजह से इसे हाईब्रिड मोड एक्जिबिशन नाम भी दिया गया है। 

SHARE THE NEWS:
error: Content is protected !!