आश्रयगृह में बच्चियों से यौन शोषण मामले में मध्य प्रदेश में रिश्तेदारों के घर से आरोपी गिरफ्तार

Read Time:4 Minute, 41 Second

टेल्को स्थित मदर टेरेसा वेलफेयर ट्रस्ट के संचालक हरपाल सिंह थापर समेत चार नामजद आरोपियों को यौन शोषण के आरोप में पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। मध्यप्रदेश के सिंगरौली जिले के माड़ा थाना क्षेत्र अंतर्गत शक्तिनगर से पुलिस ने बुधवार की सुबह ग्यारह बजे सारे आरोपियों को लेकर शहर पहुंची। सिटी एसपी सुभाष चंद्र जाट ने बिष्टूपुर थाना में बुधवार को प्रेस वार्ता में इसकी जानकारी दी। मौके पर एएसपी कुमार गौरव व टेल्को थाना प्रभारी अजय कुमार भी मौजूद थे।

बकौल सिटी एसपी, सात जून को पुलिस इन्वेस्टिगेशन शुरू होते ही टोनी डेविड को छोड़कर मुख्य आरोपी ट्रस्ट संचालक हरपाल सिंह थापर, वार्डन गीता कौर और उसका बेटा आदित्य सिंह शक्तिनगर में अपने रिश्तेदार के घर छुप गये थे।

वे लगातार अपना लोकेशन चेंज कर रहे थे। इस कारण उन लोगों की गिरफ्तारी में परेशानी हो रही थी। लोकेशन के आधार पर उन्हें गत मंगलवार को शक्तिनगर में गिरफ्तार किया गया। यह घर मुख्य आरोपी ट्रस्ट के संचालक हरपाल सिंह थापर के एक रिश्तेदार का था।

टोनी डेविड की भी जल्द होगी गिरफ्तारी :
सिटी एसपी ने बताया कि मामले में पांचवा नामजद आरोपी टोनी डेविड अब तक फरार है। उसकी गिरफ्तारी के लिए भी छापेमारी चल रही है। जल्दी उसे भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

बच्चियों से फर्जी बयान दर्ज कर लोगों को फंसाते थे आरोपी:
सूत्रों के मुताबिक, हरपाल सिंह थापर व उसकी पत्नी सह सीडब्ल्यूसी चेयरपर्सन पुष्पा रानी तिर्की बच्चियों से फर्जी बयान दर्ज करवा कर लोगों को फंसाते व रंगदारी मांगते थे। सिटी एसपी ने बताया कि मानगो थाना में गत दिनों सीडब्ल्यूसी के सहयोग से एक नाबालिग द्वारा यौन शोषण का मामला दर्ज कराया गया था।

मामले में सिटी एसपी ने खुद जांच की, पर उनके सामने नाबालिग ने बयान बदल दिया। वहीं कुछ दिन पूर्व गोविंदपुर थाना क्षेत्र के घोड़ाबांदा पश्चिमी पंचायत के वार्ड सदस्य पर राहत शिविर में नौ साल की बच्ची के साथ अश्लील हरकत करने का मामला दर्ज हुआ था। पर कुछ दिन बाद वार्ड सदस्य की पत्नी ने सदस्यों को लिखित शिकायत करते हुए बताया कि सीडब्ल्यूसी द्वारा जबरन उसके पति को झूठे केस में फंसाया गया है। उसने यह भी कहा कि आरोपियों द्वारा एक लाख रुपए रंगदारी मांगी जा रही है। सिटी एसपी ने बताया कि इस बिंदु पर भी पुलिस जांच कर रही है।

शक्ति नगर के डीपीएस में पढ़ाते थे हरपाल व पुष्पा
सूत्रों से पता चला है कि यौन शोषण का आरोपी ट्रस्ट संचालक हरपाल सिंह थापर और उसकी पत्नी पुष्पा रानी तिर्की पहले सिंगरौली के शक्तिनगर में ही रहते थे। वहां डीपीएस स्कूल में दोनों शिक्षक-शिक्षिका थे। इसी दौरान दोनों के बीच प्रेम प्रसंग हुआ और दोनों ने शादी कर ली। दोनों करीब 16-17 वर्ष शक्तिनगर में रहे। वहीं हरपाल सिंह का भाई भी शक्तिनगर में ही रहता है। वह डीपीएस स्कूल का वर्तमान में प्रिंसिपल है।

error: Content is protected !!
Hi !
You can Send your news to us by WhatsApp
Send News!