हिंदू देवी-देवताओं के लिए अपशब्द, शरद पवार के बिगड़े बोल

RIGHT NEWS INDIA: राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के अध्यक्ष शरद पवार (Sharad Pawar) एक बार फिर से ख़बरों में हैं। इस बार हिंदू देवी-देवताओं के लिए अपशब्दों का उपयोग करने के लिए उनकी चौतरफा आलोचना हो रही है। महाराष्ट्र के सतारा में 9 मई को भारतीय जनजातीय अनुसंधान तथा विकास संस्थान द्वारा आयोजित एक समारोह में शरद पवार को बतौर मेहमान आमंत्रित किया गया था।

वही इस के चलते वहाँ उपस्थित व्यक्तियों को संबोधित करते हुए शरद पवार ने जवाहर राठौड़ की कविता का जिक्र किया। राठौड़ की कविता का हवाला देते हुए राकांपा प्रमुख ने कहा कि कैसे उन्होंने इसमें अपने पिछड़ी जाति से आने तथा लोगों द्वारा उनके साथ किए गए बर्ताव का वर्णन किया है। शरद पवार ने बोला, ‘हमने तो प्रतिमाओं को तराशा लेकिन आपने सिर्फ उन्हें मंदिरों के भीतर ही रखा तथा तुम साले हरामी हमें मंदिरों में प्रवेश भी नहीं करने देते?’

वही समारोह में शरद पवार कथित तौर पर निम्न जातियों के व्यक्तियों को मंदिरों में प्रवेश नहीं करने देने के लिए पुजारियों की आलोचना करने के लिए कवि जवाहर राठौड़ का हवाला दे रहे थे। पवार ने आगे बोला, ‘ब्रह्मा-विष्णु-महेश, इन हिंदू देवताओं को हमने छन्नी से तथा अन्य अपने औजारों का इस्तेमाल करके बनाया है। हम तुम्हारे भगवान के भी बाप हैं, क्योंकि हम ने इन्हें तुम्हारा परमेश्वर बनाया है। इसलिए जवाहर राठौड़ ने एक कविता लिखी है, जिसमें बोला गया है कि हम अपने साथ हुए अन्याय को बर्दाश्त नहीं करेंगे।’

SHARE THE NEWS:

Comments:

error: Content is protected !!