साइबर अपराध पुलिस के लिए बड़ी चुनौती साबित होते नजर आ रहे हैं। पुलिस चाहकर भी उन पर लगाम नहीं लगा पा रही है। शातिर अलग अलग तरीके अपना कर लोगों को ठगने का काम कर रहे हैं। आम लोग सीधे उनके झांसे में आ जाते हैं और लाखों रूपए गवां बैठते है। ऐसा ही कुछ हुआ है ननाओं निवासी नरेश परमार के साथ। शातिरों ने व्यक्ति को पहले अपने झांसे में लिया और उसके बाद उससे 30600 रुपए ऐंठ लिए। नरेश ने इस बारे में भवारना थाना में शिकायत दर्ज करवाई है।

जानकारी के अनुसार 23 फरवरी को नरेश परमार को एक लिफाफा डाक द्वारा मिला, जिसमें एक कार्ड और स्क्रैच कार्ड था। जब नरेश ने कार्ड को स्क्रैच किया तो उसमें उसे स्विफ्ट डिजायर कार निकलने की जानकारी मिली। थोड़ी देर बाद जहां से यह लिफाफा आया था, वहां से किसी व्यक्ति ने फोन करके नरेश को बताया कि उसकी लॉटरी लगी है। उसने नरेश से पूछा कि वह कार लेना चाहता है या कार की कीमत के बराबर धनराशि चाहता है।

नरेश ने फोन करने वाले को बताया कि वो नकद धनराशि लेने का इच्छुक है। फोन करने वाले ने उसे इस कार्रवाई को शुरू करने के लिए उससे 30,600 रुपए ऐंठ लिए। इसके बाद जब कम्पनी वाले और पैसों की डिमांड करने लगे तो नरेश को शक हुआ और उसने कंपनी से अपने पैसे वापस मांगे लेकिन कंपनी की तरफ से फोन करने वाले ने पैसे देने से मना कर दिया। जिसके बाद उसे ठगी का एहसास हुआ और उसने इसकी शिकायत पुलिस थाना में दर्ज करवाई।

error: Content is protected !!