उज्जैन से एक हादसे की खबर सामने आई है। दरअसल, शहर के पाटीदार फ्रीगंज स्थित पाटीदार अस्पताल में रविवार सुबह 11.30 बजे आग लग गई। इस घटना से आसपास के इलाकों में अफरा-तफरी मच गई। राहत की बात यह रही कि घटना में कोई हताहत नहीं हुआ। हालांकि, अस्पताल में भर्ती कई मरीज आग में झुलस गए। इस दौरान अस्पताल के आइसीयू वार्ड के बेड सहित अन्य सामान जल गए। गनीमत रही घटना की सूचना मिलते ही दमकल और पुलिस-प्रशासन की टीम मौके पर पहुंच गई और अस्पताल में भर्ती सभी 80 मरीजों को दूसरे अस्पतालों में शिफ्ट किया। 

बताया जा रहा है कि अस्पताल में भर्ती कई मरीज कोरोना संक्रमित भी थे। झुलसे चार मरीजों को समीप के गुरुनानक अस्पताल में भर्ती किया गया। करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका। 

वहीं, जब आग लगने के कारण की जांच की गई तो पता चला कि आइसीयू वार्ड के पास एक जगह पर शॉर्ट सर्किट होने की वजह से हादसा हुआ। इधर, स्थानीय पुलिस ने कहा कि मामले में अभी जांच जारी है। कलेक्टर आशीष सिंह ने भी बयान दिया है कि सभी मरीजों को सुरक्षित अन्य अस्पतालों में स्थानांतरित कराया दिया गया है। आइसीयू के दो वार्डों में भर्ती 30 मरीजों को आरडी गार्डी से भेजा गया है। इसके अलावा आग में झुलसे चार मरीजों का इलाज भी जारी है। यह मरीज भी खतरे से बाहर हैं। उन्होने आगे  कहा कि भविष्य में किसी अस्पताल में इस तरह की घटना न हो इसके लिए कदम उठाए जाएंगे।

जानकारी के अनुसार अस्पताल में जब आग लगी तो उस वक्त वहां करीब 350 लोग मौजूद थे। दमकलकर्मियों ने समय पर घटनास्थल पर पहुंचकर बड़ा हादसा होने से बचा लिया। आग बुझाने के लिए फायर ब्रिगेड के 25 वाहन लगाए गए थे। इसके अलावा मरीजों को शिफ्ट करने के लिए 30 एम्बुलेंस लगा दी गई थीं। 

error: Content is protected !!