कोरोना की बंदिशों के बीच पहाड़ों की रानी शिमला नए साल के जश्न के लिए पैक हो चुकी है। होटेल बुक हो चुके हैं। सड़कों में गाड़ियों की लंबी लंबी कतारें लग रही हैं। पुलिस के सामने सबसे चुनौती भीड़ से निपटने की है। क्योंकि एक तो सोशल डिस्टेंसिग का पालन दूसरा 10 बजे के बाद कर्फ्यू के दौरान भीड़ को हटाना किसी सिरदर्द से कम नहीं है। नए साल का जश्न मनाने हज़ारों को संख्या में पर्यटक शिमला पहुंच रहे हैं। नए साल के जश्न में कोई विघ्न न पड़े इसके लिए पुलिस ने कमर कस ली है। सुरक्षा व्यवस्था के कड़े इंतजाम किए गए हैं। 

पुलिस अधीक्षक शिमला मोहित चावला ने बताया कि कोरोना काल में शिमला में नए साल के जश्न के लिए 200 पुलिस जवानों की तैनाती की गई है। शिमला को 7 सेक्टर में बांटा गया है। जबकि ट्रैफिक को 8 सेक्टर में बांटा गया है। पार्किंग की अतिरिक्त व्यवस्था की गई है। हुड़दंगियों ख़ासकर शराब पीकर हुड़दंग करने वालों को किसी भी हालत में नहीं बख्सा जाएगा। पुलिस जवानों को किसी भी स्थिति से निपटने के आदेश दिए गए हैं। 10 बजे से कर्फ्यू को देखते हुए पुलिस को आदेश दिए गए हैं कि आधा घंटा पहले ही बाज़ारों को खाली करवा लिया जाए। यातायात व्यवस्था को को बनाए रखने के लिए भी अतिरिक्त पुलिस बल को तैनात किया गया है।

error: Content is protected !!