राजधानी दिल्ली के बिंदापुर इलाके में पुलिस ने चल रहे एक फर्जी कॉल सेंटर का खुलासा किया है। पुलिस ने यहां बतौर टेली कॉलर काम करने वाली आठ महिलाओं को गिरफ्तार किया है। कॉल सेंटर चलाने वाला मुख्य आरोपी अभी फरार है, जिसकी तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है। 

शुरूआती जांच में पता चला है कि कॉल सेंटर से कम ब्याज पर लोन दिलाने का झांसा देकर ठगी को अंजाम दिया जा रहा था। पुलिस मौके से पंद्रह मोबाइल फोन, एक लैपटॉप और 13 नोटबुक जब्त कर मामले की छानबीन करने में जुटी है।

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक बिंदापुर थाने में तैनात एसआई धर्मवीर अन्य पुलिसकर्मियों के साथ बुधवार शाम इलाके में गश्त कर रहा था। इसी दौरान मुखबिर से सूचना मिली कि सेवक पार्क स्थित एक मकान में फर्जी कॉल सेंटर चल रहा है। एसआई धर्मवीर ने वरिष्ठ अधिकारियों को जानकारी देकर पुलिस टीम के साथ उक्त मकान पर दबिश दी। 

पहली मंजिल पर कॉल सेंटर चल रहा था। जिसमें आठ महिलाएं मोबाइल और नोटबुक पर काम कर रहे थे। पूछताछ में पता चला कि दीपक नाम का व्यक्ति कॉल सेंटर चलाता है और एक फाइनेंस कंपनी के नाम से कम ब्याज पर लोन देने का झांसा देकर ठगी को अंजाम देता है।

error: Content is protected !!