प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को 75वीं बार रेडियो कार्यक्रम मन की बात को संबोधित किया। 32 मिनट के इस कार्यक्रम में वह बंगाल, असम, तमिलनाडु और केरल का जिक्र करना नहीं भूले। इन राज्यों की खूबियों और यहां के लोगों की तारीफ की। इन चारों राज्यों में विधानसभा चुनाव चल रहे हैं। इसके अलावा प्रधानमंत्री मोदी के मन में किसान और कृषि भी रहा। मोदी ने कृषि के क्षेत्र में आधुनिकता की पैरवी की और कहा कि ये समय की मांग है। उन्होंने कहा, इस मामले में हम काफी पीछे हो गए हैं। कृषि को आधुनिकता और इनोवेशन से काफी पहले जोड़ देना चाहिए था।

75वी मन की बात

चुनाव वाले 4 राज्यों को मन की बात से जोड़ा

1. तमिलनाडु के बस कंडक्टर की तारीफ की
पीएम मोदी ने तमिलनाडु के कोयंबटूर में बस कंडक्टर का काम करने वाले मरिमुथु योगनाथन की कहानी बताई। कहा, ‘योगनाथन जी अपनी बस के यात्रियों को टिकट के साथ एक पौधा भी मुफ्त देते हैं। इस तरह योगनाथन जी न जाने कितने ही पेड़ लगवा चुके हैं। योगनाथन जी अपने वेतन का काफी हिस्सा इसी काम में खर्च करते आ रहे हैं। अब इसको सुनने के बाद ऐसा कौन नागरिक कोगा जो मरिमुथु योगनाथन जी के काम की प्रशंसा न करे। मैं हृदय से उनके इस प्रयासों को बहुत बधाई देता हूं।’

2. केरल के सेंट टेरेसा कॉलेज को याद किया
प्रधानमंत्री ने केरल के कोच्चि के सेंट टेरेसा कॉलेज को याद किया। बताया कि इस कॉलेज में कचरे से कंचन बनाने का काम किया जा रहा है। मोदी ने कहा, ‘मैं 2017 में इस कॉलेज के कैंपस में एक बुक रीडिंग पर आधारिक कार्यक्रम में शामिल हुआ था। तब मैंने देखा था कि इस कॉलेज के स्टूडेंट वेस्ट मटेरियल से ‘रीयूजबल टॉय’ बना रहे हैं। इसमें पुराने कपड़े, फेंके गए लकड़ी के टुकड़ों, बैग और बॉक्स का यूज करते हैं।’

3. असम के कार्बी भाषा का डॉक्यूमेंटेशन हो रहा
मन की बात में मोदी ने असम के कार्बी आंगलोंग जिले का जिक्र किया। बताया कि कार्बी जिले के सिकारी टिस्सौ जी पिछले 20 साल से करबी भाषा का डॉक्यूमेंटेशन कर रहे हैं। कार्बी आदिवासी भाई बहनों की मुख्य भाषा आज मुख्यधारा से गायब हो रही है। टिस्सौ जी ने इसे बचाने के लिए मुहिम चलाई है। उनके इस काम के लिए उन्हें काफी प्रशंसा मिली है।

4. दार्जिलिंग के किसानों को प्रेरणाश्रोत बताया
पीएम मोदी ने कहा, ‘आज देश में कृषि क्षेत्र में आधुनिकता की जरूरत है। किसान भाई परंपरागत तौर-तरीकों के साथ इनोवेशन जोड़कर काफी सफलता हासिल कर सकते हैं। इससे उनकी आय में भी बढ़ोतरी होगी। पहले देश ने व्हाइट क्रांति को देखा अब बी फार्मिंग भी ऐसा ही एक विकल्प बनकर उभर रहा है। पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग के गुरदुम गांव के लोग इसके लिए सबसे बेहतर उदाहरण हैं। पहाड़ों पर तमाम दिक्कतों का सामना करने के बाद भी यहां के लोगों ने हनी बी फार्मिंग (शहद) तैयार करने का काम शुरू किया। इससे किसानों की आमदनी भी बढ़ रही है।’

मन की बात को लेकर भावुक हुए

प्रधानमंत्री ने मन की बात कार्यक्रम के 75वें एपिसोड को लेकर देश की जनता को बधाई दी। मोदी काफी भावुक भी दिखे। कहा, ‘ऐसा लगता है कि मानो यह कल ही बात हो, जब हमने मन की बात शुरू की। 3 अक्टूबर 2014 से शुरू हुआ सफर होली तक पहुंच गया।’

और क्या बोले प्रधानमंत्री?

  • पिछले साल 22 मार्च को लगे जनता कर्फ्यू को याद किया। कहा, पिछले साल मार्च में ही जनता ने पहली बार जनता कर्फ्यू का नाम सुना था। अनुशासन का यह सबसे बड़ा उदाहरण था। पूरी दुनिया ने हमारे इस काम को सराहा। आने वाली पीढ़ियां इसको लेकर गर्व करेंगी।
  • कोरोना वॉरियर्स के लिए थाली और ताली बजाकर जो सम्मान पूरे देश ने कोरोना वॉरियर्स को दी उससे उनकी हिम्मत बढ़ी है। कोरोना वॉरियर्स ने कई लोगों की जान बचाने के लिए अपनी जान जोखिम में डाली।
  • अभी भी कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। इसलिए सभी को दवाई भी और कड़ाई भी मंत्र का पालन करना होगा।

दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन प्रोग्राम चल रहा

पीएम मोदी ने वैक्सीनेशन का भी जिक्र किया। कहा, पिछले साल इस समय सवाल था कि वैक्सीन कब तक आएगी। आज हम दुनिया का सबसे बड़ा वैक्सीनेशन प्रोग्राम चला रहे हैं। देश के कोने-कोने से हम ऐसी खबरें सुन रहे हैं, ऐसी तस्वीरें देख रहे हैं जो हमारे दिल को छू जाती हैं। यूपी के जौनपुर में 109 वर्ष की बुजुर्ग मां, राम दुलैया जी ने टीका लगवाया है। ऐसे ही दिल्ली में भी 107 साल के केवल कृष्ण जी ने वैक्सीन की डोज ली है। हैदराबाद में 100 साल के जय चौधरी जी ने वैक्सीन लगवाई और सभी से अपील भी है कि वैक्सीन जरूर लगवाएं। मैं ट्वीटर-फेसबुक पर भी ये देख रहा हूं कि कैसे लोग अपने घर के बुजुर्गों को वैक्सीन लगवाने के बाद उनकी फोटो अपलोड कर रहे हैं।

क्रिकेटर मिताली राज को बधाई दी
पीएम मोदी ने हाल ही में 10 हजार रन बनाने का रिकॉर्ड बनाने वाली भारतीय महिला क्रिकेटर मिताली राज को बधाई भी दी। पीएम ने कहा, मुझे इंदौर की रहने वाली सौम्या ने इस ओर मेरा ध्यान आकर्षित किया और इसका जिक्र ‘मन की बात में करने के लिए कहा था। यह विषय है – भारत की Cricketer मिताली राज जी का नया record। मिताली जी, हाल ही में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में दस हजार रन बनाने वाली पहली भारतीय महिला क्रिकेटर बनी हैं। उनकी इस उपलब्धि पर बहुत-बहुत बधाई। मिताली आज लाखों-करोड़ों के लिए प्रेरणा हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘आज एजुकेशन से लेकर ,एंटरप्रिन्योरशिप, आर्म्ड फोर्स से लेकर साइंस तक, हर क्षेत्र में देश की बेटियां अपनी अलग पहचान बना रही हैं। मुझे विशेष खुशी इस बात से है कि बेटियां खेलों में अपना एक नया मुकाम बना रही हैं। प्रोफेशनल च्वाइस के रूप में खेल एक पसंद बनकर उभर रहा है।’

error: Content is protected !!