हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड द्वारा 10वीं व 12वीं की वार्षिक परीक्षाओं के लिए परीक्षा केंद्रों की संख्या का निर्धारण कर लिया है। कोविड-19 के बीच परीक्षा केंद्रों की संख्या में पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष इजाफा किया गया है। इस वर्ष स्कूल शिक्षा बोर्ड ने 2081 परीक्षा केंद्रों का निर्माण किया है। गत वर्ष लगभग 2044 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे। बोर्ड द्वारा जारी डेटशीट के तहत मिडल एसओएस के परीक्षार्थियों की परीक्षा 13 अप्रैल से 23 अप्रैल, मैट्रिक की परीक्षा 13 अप्रैल से 28 अप्रैल तथा जमा-2 की परीक्षा 13 अप्रैल से 10 मई तक संचालित की जाएंगी। मैट्रिक कक्षा के नियमित, कंपार्टमेंट, श्रेणी सुधार, अतिरिक्त विषय व आठवीं व मैट्रिक कक्षा के राज्य मुक्त विद्यालय के परीक्षार्थियों के लिए परीक्षा का समय प्रातःकालीन सत्र 8ः45 से 12 बजे तक तथा जमा-2 कक्षा के नियमित, कंपार्टमेंट, श्रेणी सुधार, अतिरिक्त विषय व राज्य मुक्त विद्यालय एस.ओ.एस. के परीक्षार्थियों के लिए परीक्षा का समय सायंकालीन सत्र 1ः45 से 5 बजे तक रहेगा। परीक्षा संचालन में नियुक्त स्टाफ के साथ ही परीक्षार्थियों को फेसमास्क पहनना अनिवार्य होगा। परीक्षा हॉल में भी उचित सोशल डिस्टैंसिंग अपनाते हुए बैठने की व्यवस्था की जाएगी।

हर परीक्षा केंद्र में सी.सी.टी.वी. हो सुनिश्चित

स्कूल शिक्षा बोर्ड द्वारा सभी परीक्षा केंद्रों में सी.सी.टी.वी. सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है। स्कूल शिक्षा बोर्ड के मुताबिक हर वर्ष प्रयास रहता है कि 100 फीसदी परीक्षा केंद्रों में सी.सी.टी.वी. की उपलब्धता हो। हिमालच प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष डाॅ. सुरेशकुमार सोनी ने बताया कि 10वीं व 12वीं की वार्षिक परीक्षाएं 2081 परीक्षा केंद्रों में होगी। कोविड-19 के बीच परीक्षा केंद्रों की संख्या में बढ़ौतरी की गई है। हर परीक्षा केंद्र में सी.सी.टी.वी. सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है।

error: Content is protected !!