महिलाओं ने सड़क निर्माण रोका, एसडीओ को धक्का देकर ढाँक से गिरने की कोशिश

उपमंडल सलूणी में एक सड़क निर्माण कार्य को महिलाओं ने रोक दिया। महिलाओं को समझाने के लिए मौके पर पहुंचे अधिकारी को ही महिलाओं ने गुस्से में आकर धक्का दे दिया। कर्मचारी ने अधिकारी को संभाल लिया और नाले में गिरने से बचा लिया। इससे अनहोनी होने से टल गई। जानकारी के अनुसार लोक निर्माण उपमंडल सलूणी ने लिंक रोड मंजीर का कार्य निजी ठेकेदार को अवार्ड किया है और सड़क निर्माण के कार्य में लगी ठेकेदार की जेसीबी को मंजीर की 2 महिलाओं ने रोक लिया।

इस पर ठेकेदार ने सहायक अभियंता लोक निर्माण उपमंडल सलूणी शैलेश राणा को सूचना दी, जिस पर अधिकारी स्वयं मौके पर पहुंचे और महिलाओं को बताया कि सड़क निर्माण में आने वाली यह जगह सरकारी है। उन्हें समझने की कोशिश की मगर महिलाएं मानने को तैयार नहीं थीं और अधिकारी के साथ बहसबाजी करते गुस्से में आकर अधिकारी को धक्का दे डाला। अधिकारी को गिरने से कर्मचारी ने बचा लिया। अगर अधिकारी को कर्मचारी रोकने में असफल रहता तो अधिकारी नीचे ढांक में गिर सकता था।

अधिकारी ने अपने साथ हुई घटना की सूचना पुलिस को दी, जिस पर पुलिस दल मौके पर पहुंचा और कानूनी कार्रवाई करते हुए पुलिस थाना किहार में रास्ता रोककर सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने व सरकारी अधिकारी को धक्का देने पर भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। आरोपी महिलाओं की पुलिस ने शिनाख्त डोगरी देवी पुत्री चतर सिंह व पुन्नी पत्नी चतर सिंह गांव शुक्रेठी डाकघर मंजीर के रूप में की है। डीएसपी सलूणी शेर सिंह ने बताया कि लोक निर्माण विभाग के अधिकारी की शिकायत पर दो आरोपी महिलाओं के खिलाफ पुलिस थाना किहार में आईपीसी की धारा 353,341 व 34 के तहत मामला दर्ज कर छानबीन की जा रही है।

Leave a Reply