रोहडू पुलिस ने कोलकाता से पकड़ा ऑनलाइन ठगी करने वाला शातिर

रोहड़ू पुलिस ऑनलाइन ठगी करने वाले एक शातिर आरोपी को पकड़ने में कामयाब हुई है। पुलिस टीम द्वारा कोलकाता से हिरासत में लिए आरोपी को थाने में लाया गया है। इसे न्यायालय में पेश कर रिमांड पर लिया जा रहा है। जानकारी के अनुसार भलून निवासी मोहन सिंह ने 28 मार्च, 2018 को पुलिस थाना रोहड़ू में रिपोर्ट दर्ज करवाई थी कि वह ऑनलाइन ठगी का शिकार हुआ है। उसने शातिरों की बातों में आकर अपनी जमापूंजी 14,37,800 रुपए लुटा दिए हैं।

मोहन सिंह के अनुसार 3 वर्ष पहले शातिरों द्वारा फोन कॉल करके उसे बताया गया कि उसकी 2,30,00,000 रुपए की लक्की ड्रॉ लॉटरी निकली है। उपरोक्त लॉटरी की राशि लेने की एवज में आरोपियों ने शिकायतकत्र्ता से अलग-अलग बैंक खातों में कुल 14,37,800 रुपए डालने को कहा। लॉटरी निकलने के नाम पर खुश होकर मोहन सिंह ने उक्त राशि शातिरों द्वारा बताए गए बैंक अकाऊंट में डाल दी। जब मोहन सिंह द्वारा शातिरों से संपर्क करना चाहा तो इनके मोबाइल फोन बंद पाए गए। अपनी जमापूंजी लुटता देख मोहन सिंह ने पुलिस थाना रोहड़ू पहुंचकर पुलिस से अपनी जमापूंजी को वापस दिलाने की गुहार लगाई।

डीएसपी रोहड़ू सुनील नेगी ने कहा कि शिकायत के आधार पर अन्वेषण प्रक्रिया के दौरान पुलिस टीम द्वारा पश्चिम बंगाल में बैंक खाताधारकों के बारे में सत्यापन किया गया। सत्यापन करने पर इस प्रकरण में कोलकाता निवासी जमशेद खान उर्फ जमशेर उर्फ राजू, पंकज शाहू व पंकज साहनी मुख्य आरोपी पाए गए थे।

मुख्य आरक्षी अमृत नेगी, आरक्षी जय परख व साहिल पांजटा द्वारा मुख्य आरोपी जमशेर खान उर्फ जमशेद उर्फ राजू पुत्र साजन खान गांव व डाकघर हैन्थलखाली दक्षिण पाड़ा नजदीक हैल्थ सैंटर डाॅ. हैन्थलखाली थाना व तहसील मेहशतला जिला दक्षिण-24 परगना (पश्चिम बंगाल) आयु 37 वर्ष को गिरफ्तार कर रोहड़ू लाया गया है। डीएसपी ने कहा कि आरोपी को न्यायालय में पेश कर पुलिस रिमांड लिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह शातिर आरोपी थाना चौपाल को भी वांछित है और वहां इसके विरुद्ध जालसाजी के कई मामले दर्ज हैं।