कांगड़ा के छेब में दफनाया मिला नवजात का शव, कपड़े व अस्पताल की पर्चियां भी मिलीं

कांगड़ा शहर के निकट छेब में जल शक्ति विभाग के आफिस के निकट एक नवजात का शव बरामद हुआ है। शव को निजी भूमि में दबाया गया है। शव के पास रखे कपड़े व पर्चियां व कंबल भी बरामद हुए है। हालांकि नवजात के शव को काफी पहले यहां पर दफनाया गया था पर भूमि के मालिक को इस का पता गत सायं लगा। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस मामले की तफ्तीश कर रही है।

जानकारी के अनुसार छेब में जल शक्ति विभाग के निकट बबली देवी की जमीन है। उन्होंने इस जमीन को खाली रखा है लिहाजा उस तरफ आना-जाना भी कम ही होता है। शनिवार शाम को शनिवार शाम को जब बबली देवी अपनी जमीन पर गई तो वहां कुछ कपड़े, पर्चियां व कंबल रखे हुए थे। इसको देखने के बाद उन्होंने पंचायत प्रधान के माध्यम से पुलिस को सूचित किया। आज सुबह 10 बजे पुलिस टीम मौके पर पहुंची। प्रारंभिक जांच से पता चला है कि यह नवजात रैत ब्लॉक के प्रेई क्षेत्र से संबंधित हैं। जो पर्चियां मौके से मिली वह टांडा मेडिकल कॉलेज की है। इससे पता चला है कि 28 दिसंबर को नवजात की मां को टांडा में छुट्टी मिली थी। इसके अलावा टांडा के अन्य सारे रिकॉर्ड वहीं घटनास्थल पर मिले हैं। यहां एक गड्ढा खोदकर दफनाया नवजात को दफनाया गया था और उसके ऊपर एक बड़ा पत्थर रख दिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है। जाहिर है इससे पहले टांडा मेडिकल कॉलेज के निकट झाड़ियों से भी नवजात के शव मिले थे।