जयंत चौधरी ने योगी पर की आपत्तिजनक टिप्पणी, कहा कंगना की फिल्में ना देखे

किसान आंदोलन के बीच अब राजनीतिक दलों की सक्रियता बढ़ गई है। भैंसवाल की महापंचायत को अनुमति ना देने से भड़के राष्ट्रीय लोकदल (आरएलडी) उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर आपत्तिजनक टिप्पणी की। इसके साथ ही जयंत चौधरी ने भड़काऊ बयान भी दिए। अनुशासित, अहिंसा के नाम से चलाए जा रहे किसान आंदोलन की शक्ल ट्रैक्टर परेड में हुई हिंसा के बाद पूरी तरह से तब्दील हो गई है। उत्तर प्रदेश की सरकार ने महापंचायत के लिए अनुमति नहीं दी। इसके बाद भी महापंचायत की गई।

भैंसवाल गांव में आयोजित महापंचायत में जयंत चौधरी ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आपका माथा बहुत बड़ा है, 144 यहां छपवा लो, हम ना तो रुके हैं और ना ही आगे रुकेंगे। शामली जिले में बुलाई गई महापंचायत को प्रशासन ने अनुमति देने से इनकार कर दिया था। इसके बावजूद किसानों ने महापंचायत कर प्रशासन और शासन को खुली चुनौती दी।

आरएलडी उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने कहा, ‘महापंचायत में नौजवान दूसरे मूड में आए हैं, ये किसी को छोड़ने वाले नहीं हैं। वो कहते है ना देसी भाषा में लत्ते फाड़ देंगे। अगर आप किसान के साथ अन्याय करोगे, कोई किसान पर उंगली उठाएगा तो उनकी आने वाले पीढ़ियों को किसानों की हाय लगेगी। आरएलडी नेता जयंत चौधरी ने कहा, ‘अगर कोई किसान पर लाठी बजाएगा, उंगली उठाएगा तो उस उंगली को तोड़ दिया जाएगा। हम धमकी देना चाहते है उनको।’

यही नहीं, जयंत चौधरी ने कहा, ‘गन्ने के भाव की चर्चा करते हुए पिछले लोकसभा चुनाव में जिन्ना और गन्ने का नारा दिया गया था। हमने कहा था गन्ना जीतेगा और जीता भी। भरी पंचायत में कह रहा हूं, फैसला ले लो, ये सरकार आपको भाव नहीं दे रही है, अगले चुनाव में आप भी इन्हें भाव नहीं देना बिलकुल भी।’ इसके साथ ही उन्होंने कहा, ‘बीजेपी को तो दूसरा झंडा ही थामना पड़ेगा क्योंकि इनसे तिरंगा ना बच रहा। इनकी ही मित्र मंडली के लोग हैं। मुंबई वाली कंगना रनौत बैठी है। उनका तो नाम भी लेना मुझे पसंद नहीं है। भाइयों पहले उनकी फिल्म देखी हो तो माफ है। आगे उनकी एक भी फिल्म मत देखना तुम, जो तुम्हें आतंकवादी बताती हो। पता ये वही लोग हैं, जो शहंशाह दिल्ली में बैठे हैं, उनकी ही मित्र मंडली है। उनके इशारे पर ही सबकुछ हो रहा है। कोई खिलाड़ी है, कोई ऐक्टर है तो कोई सिलेब्रिटी।’