रूस की जनता सड़कों पर, 5000 से ज्यादा को किया गया गिरफ्तार

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के धुर विरोधी नेता एलेक्सेई नवालनी की गिरफ्तारी के विरोध में पूरे देश में एक बार फिर सड़कों पर सैलाब उमड़ पड़ा। जगह-जगह प्रदर्शन हुए। पुलिस ने नवालनी की पत्नी और उनकी प्रवक्ता समेत 5,000 से ज्यादा समर्थकों को हिरासत में लिया है। नवालनी की गिरफ्तारी के विरोध में लगातार दूसरे सप्ताह रविवार देर रात तक रूस के कई शहरों में विरोध में प्रदर्शन किए गए। 

इन प्रदर्शनों से रूसी सरकार का मुख्यालय (क्रेमलिन) भी काफी परेशान रहा। एक निगरानी संस्था के मुताबिक रूस में न सिर्फ हजारों लोगों को गिरफ्तार किया गया बल्कि उनमें से कई से साथ मारपीट भी की गई। अधिकारी इन प्रदर्शनों से निपटने के लिए हरसंभव कोशिशें कर रहे हैं। इस बीच, नवालनी की पार्टी ने मंगलवार को भी मॉस्को में एक और प्रदर्शन की अपील की है।

इसी दिन नवालनी के मामले पर अदालत में सुनवाई होनी है। बता दें कि पुतिन के आलोचक और भ्रष्टाचार विरोधी मुहिम चलाने वाले नवालनी (44) को जर्मनी से लौटते ही 17 जनवरी को गिरफ्तार कर लिया गया था। उन्होंने क्रेमलिन पर जहर देने का आरोप लगाया है। रविवार देर रात तक पुलिस ने अकेले मॉस्को से ही दो हजार से ज्यादा लोगों को हिरासत में लिया जिनमें नवालनी की पत्नी यूलिया और उनकी प्रवक्ता कीरा यार्मयूश शामिल हैं।

अमेरिका ने की निंदा, रूस बोला- अंदरूनी मामलों में दखल न दें 
अमेरिका ने रूस से नवालनी को रिहा करने की अपील करते हुए प्रदर्शनों पर दमनात्मक कार्रवाई की निंदा की है। विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकेन ने ट्वीट किया, ‘अमेरिका शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे लोगों एवं पत्रकारों पर लगातार दूसरे सप्ताह कठोर कार्रवाई की निंदा करता है।’ रूस के विदेश मंत्रालय ने ब्लिंकेन के ट्वीट के जवाब में कहा, ‘यह रूस के आंतरिक मामलों में दखलंदाजी है और ऐसा करने से बचें।’