वार्ता के लिए मंच तैयार करे सरकार, बीच का रास्ता कोई जरूर निकलेगा- टिकैत

कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर 65 दिन से किसानों की धरना जारी है। गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा के बाद पंचायतों का दौर जारी है। वहीं,  भाकियू नेता राकेश टिकैत के भावुक वीडियो के वायरल होने के बाद गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों का हुजूम उमड़ गया है। दिल्ली पुलिस ने भी किसानों को राजधानी में जाने से रोकने के लिए सख्ती बढ़ी दी है। गाजीपुर बॉर्डर को किले में तब्दील किया गया है। गाजीपुर बॉर्डर पर पुलिस ने कई लेयर की बैरिकेडिंग की है। इसके साथ ही नुकीले तार भी लगाए हैं। नेशनल हाईवे 24 को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। 

किसान नेता नरेश टिकैत ने प्रधानमंत्री के वार्ता संबंधी बयान पर पीटीआई से बातचीत में कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जो कहा कि हम उसका सम्मान करते हैं, उनकी गरिमा की रक्षा की जाएगी। हम नहीं चाहते कि सरकार या संसद हमारे आगे झुके, लेकिन वह किसानों के आत्म-सम्मान की भी रक्षा करे। 

किसान नेता नरेश टिकैत ने गणतंत्र दिवस के दौरान लालकिले पर हुई घटना पर कहा कि हम किसी को तिरंगे का अपमान नहीं करने देंगे, इसे हमेशा ऊंचा रखेंगे। 26 जनवरी को हुई हिंसा षड्यंत्र का परिणाम थी, इसकी समग्र जांच होनी चाहिए। किसान नेता नरेश टिकैत ने कहा कि सरकार को हमारे लोगों को रिहा करना चाहिए और वार्ता के लिए मंच तैयार करना चाहिए। हमें उम्मीद है कि बीच का कोई रास्ता निकलेगा। 

सिंघु बॉर्डर पर सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई
सिंघु बॉर्डर पर कृषि कानूनों के खिलाफ हो रहे किसानों के प्रदर्शन की वजह से बॉर्डर पर सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। एक व्यक्ति ने बताया मैं दिल्ली से आ रहा हूं और कुंडली में काम करता हूं। पुलिस हमें जाने नहीं दे रही है। प्रदर्शन की वजह से हमारा नुकसान हो रहा है।

खेती को आधुनिक बनाने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है: मोदी
मन की बात कार्यक्रम में  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि खेती को आधुनिक बनाने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है और अनेक कदम उठा भी रही है। सरकार के प्रयास आगे भी जारी रहेंगे।

मन की बात में बोले पीएम मोदी- 26 जनवरी को तिरंगे का अपमान देख दुखी हुआ देश
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज अपने रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ में कहा कि दिल्ली में 26 जनवरी को तिरंगे का अपमान देख देश बहुत दुखी भी हुआ। हमें आने वाले समय को नई आशा और नवीनता से भरना है। हमने पिछले साल असाधारण संयम और साहस का परिचय दिया। इस साल भी हमें कड़ी मेहनत करके अपने संकल्पों को सिद्ध करना है।

गाजीपुर बॉर्डर पर सुबह से बढ़ रही भीड़
यूपी गेट पर आज सुबह से ही किसानों की भीड़ बढ़ रही है। दिल्ली पुलिस ने बैरियर और कटीले तार लगाकर एनएच 9 पर आवाजाही बंद कर रखी है। लोग अन्य सीमाओं से आने-जाने को मजबूर हैं। 

इस समय देश का अन्नदाता कष्ट में है: श्रीनिवास 
यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास ने कहा कि इस समय देश का अन्नदाता कष्ट में है। सरकार ने इस आंदोलन को खत्म करने की कोशिश की थी। 26 जनवरी को जो हुआ वह सबके सामने आ चुका है। उन्होंने कहा राहुल गांधी किसानों के साथ हैं। कांग्रेस की सरकार आती है तो इस बिल को खत्म कर देंगे।

कल प्रधानमंत्री ने जो घोषणा की वह बहुत महत्वपूर्ण है: जावड़ेकर
किसानों के कृषि कानूनों के विरोध पर केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि मैं हमेशा एक शांतिपूर्ण संकल्प में विश्वास करता हूं। कल प्रधानमंत्री ने जो घोषणा की वह बहुत महत्वपूर्ण है। आपको बता दें कि पीएम मोदी ने कल कहा था कि 18 महीने के लिए तीन कृषि कानूनों को निलंबित करने के किसानों के लिए सरकार का प्रस्ताव अभी भी खड़ा है।

गाज़ीपुर बाॅर्डर पर भारी पुलिस बल तैनात
गाज़ीपुर बाॅर्डर पर किसानों का विरोध प्रदर्शन आज 65वें दिन भी जारी है। इसे देखते हुए बॉर्डर पर पुलिस बल तैनात किया गया है। दिल्ली पुलिस ने भी किसानों को राजधानी में जाने से रोकने के लिए सख्ती बढ़ी दी है। गाजीपुर बॉर्डर को किले में तब्दील किया गया है। गाजीपुर बॉर्डर पर पुलिस ने 12 लेयर की बैरिकेडिंग की है। इसके साथ ही नुकीले तार भी लगाए हैं। नेशनल हाईवे 24 को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। 

सिंघु बॉर्डर पर बड़ी संख्या में सुरक्षा बल तैनात
कृषि कानूनों के खिलाफ सिंघु बॉर्डर पर चल रहे किसानों के विरोध प्रदर्शन के बीच बॉर्डर पर बड़ी संख्या में सुरक्षा बल तैनात किया गया है।