BJP की फैलाई फेक न्यूज के चलते बदनाम हुए किसान- ममता का तीखा हमला

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को बीजेपी पर बंगालियों और गैर-बंगालियों को बांटने का आरोप लगाते हुए तीखा हमला बोला. उन्होंने कहा कि वो राज्य में रह रहे लोगों के लिए कुछ भी करने को तैयार हैं, लेकिन बंगाल में बीजेपी को नहीं आने देंगी.

टीएमसी मुख्यालय में मुख्य रूप से हिंदी-भाषी लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि बीजेपी बंगालियों और गैर-बंगालियों को बांटने की कोशिश कर रही है. उसकी हिंदू-मुस्लिम राजनीति पीछे हो गई है. देखिए, दिल्ली में क्या हो रहा है? पंजाब में किसान आंदोलन छेड़ चुके हैं. बीजेपी ने पूरे देश को जला दिया है. 

आगे ममता बनर्जी ने कहा कि मोदी सरकार ने किसानों को बदनाम करने की कोशिश की है. इससे पहले किसी ने भी ऐसा दुस्साहस नहीं दिखाया था. मैं देश के किसान के साथ हूं. जो दिल्ली में हुआ वो केंद्र सरकार की नाकामी है. ममता ने कहा कि अमित शाह ने एक बार कहा था कि उनके पास 50 लाख वॉट्सऐप ग्रुप हैं. अगर वो फेक न्यूज फैलाना चाहते हैं तो वो इसे कभी भी वायरल कर सकते हैं.

मोदी सरकार सीबीआई, ईडी का इस्तेमाल करके लोगों को डरा रही है, लेकिन मैं उनके सामने कभी झुकने वाली नहीं हूं. मैं अपने बिहार के भाइयों से पूछना चाहती हूं कि क्या उन्होंने कभी बंगाल में किसी मुद्दे का सामना किया है? मैं अपने पंजाबी भाइयों से भी यही सवाल पूछना चाहती हूं? 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए ममता ने कहा कि जो खुद टेलीप्रॉम्प्टर देखकर बोलते हैं. वो हमें क्या हिंदी सिखाएंगे. हम मानवता के लिए काम करते हैं. हम यहां हिंदी अकादमी खोल रहे हैं. आखिरी में उन्होंने राज्य की हिंदी भाषी आबादी से विधानसभा चुनाव में टीएमसी को समर्थन देने की अपील की.