अमरेंदर सिंह का जावडेकर पर हमला, कांग्रेस ने नहीं, भाजपा-आप ने भड़काया दिल्ली में दंगा

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंदर सिंह ने गुरुवार को लाल किले की हिंसक घटना की जिम्मेदारी किसी अन्य के सिर मढ़ने की घिनौनी और निराशाजनक कोशिश के लिए केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर पर तीखा हमला बोला है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस घटना को स्पष्ट तौर पर श्रीजावडेकर की अपनी भारतीय जनता पार्टी के समर्थकों और वर्कर्ज ने आम आदमी पार्टी के साथ मिलीभुगत करके भडक़ाया था, जबकि इस समूचे घटनाक्रम में कांग्रेस तो कहीं भी नहीं थी। जावडेकर द्वारा कांग्रेस पार्टी और पंजाब में उनकी सरकार के खि़लाफ लगाए गए बेबुनियाद दोषों का सख्त जवाब देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, लाल किले पर निशान साहिब लहराते समय कैमरे में कैद हुए चेहरे कांग्रेस के नहीं, बल्कि भाजपा और आप के वर्करों और समर्थकों के हैं। कैप्टन अमरेंदर सिंह ने यह टिप्पणी उस समय की जब दिल्ली पुलिस ने भाजपायी सांसद सनी दियोल के नज़दीकी दीप सिद्धू को हिंसा के लिए भड़काने वालों में से एक के तौर पर पहचाना गया है और आप का मेंबर अमरीक मिक्की भी हिंसा वाली जगह पर उपस्थित था।

कैप्टन अमरेंदर सिंह ने बताया कि किसी किस्म की अराजकता में लाल किले पर कांग्रेस का एक भी नेता या वर्कर नहीं देखा गया। यहां तक कि 26 जनवरी को घटी इस घटना के लिए किसान भी जि़म्मेदार नहीं हैं और बिना शक समाज विरोधी तत्वों द्वारा इस घटना को अंजाम दिया गया, जिन्होंने ट्रैक्टर रैली में घुसपैठ कर ली थी। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा निष्पक्ष जांच की जानी चाहिए, जिससे किसी भी राजनीतिक पार्टी या यहां तक कि किसी तीसरे मुल्क, जिसके बारे में भाजपा के नेताओं द्वारा दोष लगाए जा रहे हैं, की संभावित भूमिका का पता लगाया जा सके। उन्होंने कहा कि यह भी यकीनी बनाया जाए कि गुनाहगारों को सज़ा मिले और असली किसानों को बिना वजह परेशान या बदनाम न किया जाए। राहुल गांधी पर हिंसा के लिए उकसाने के लगाए गए दोषों के लिए केंद्रीय मंत्री पर बरसते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, क्या कांग्रेसी नेता ने किसी को लाल किले पर चढ़ने के लिए कहा था, उन्होंने ऐसा नहीं किया, बल्कि ये भाजपा और आप के लोग थे, जिन्होंने यह सब कुछ किया।