फिल्म को थियेटर में चलाया गया तो गंभीर परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहें-भीम सेना प्रमुख

रिलीज होने से पहले डायरेक्टर सुभाष कपूर की फिल्म मैडम चीफ मिनिस्टर विवादों में घिरती नजर आ रही है। हाल ही में बॉलीवुड मूवी मैडम चीफ मिनिस्टर का ट्रेलर रिलीज किया गया है और 22 जनवरी को यह फिल्म सिनेमाघरों में लांच की जा रही है। फिल्म का ट्रेलर और पोस्टर आने के बाद फिल्म पर विवाद खड़ा हो गया है। पहले से ही कयास लगाए जा रहे थे कि यह फिल्म उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा सुप्रीमो बहन मायावती के जीवन पर आधारित है। फिल्म का ट्रेलर लांच होने के बाद साफ हो गया है कि फिल्म को मायावती के जीवन पर ही फिल्माया गया है लेकिन इस फिल्म में बसपा सुप्रीमो मायावती का जीवन संघर्ष और गौरवशाली इतिहास दिखाने के बजाए इसे तोड़ मरोड़कर परोसा गया है। जिसमें फूहड़पन, अश्लीलता, बेहूदगी, बेशरमाई और दलितों के साथ-साथ बसपा सुप्रीमो मायावती का अपमान कूट-कूट कर भरा गया है।

भीमसेना चीफ़ नवाब सतपाल तंवर ने फिल्म का ट्रेलर देखने के बाद बॉलीवुड के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। सतपाल तंवर का आरोप है कि मैडम चीफ मिनिस्टर फिल्म में बसपा सुप्रीमो बहन मायावती का चरित्र हनन किया गया है जिसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। भीमसेना इस फिल्म के खिलाफ देशभर में बड़ा आंदोलन खड़ा कर सकती है। इसके लिए तंवर लगातार अपने फेसबुक पेज और ट्विटर से अभियान चला रहे हैं जिसे लाखों लोग समर्थन दे रहे हैं। तंवर का कहना है कि यह फिल्म बहुजन समाज, दलितों, ओबीसी, अल्पसंख्यक वर्ग, महिलाओं और देशभर के सामान्य वर्ग का भी अपमान है। उन्होंने कहा कि मायावती हमारी आदर्श नेता हैं। उनका अपमान देश का अपमान है। भीमसेना प्रमुख नवाब सतपाल तंवर ने चेतावनी दी है कि यदि फिल्म को थियेटर में चलाया गया तो गंभीर परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहें।

फिल्म के ट्रेलर में मुख्य भूमिका में नजर आ रही अभिनेत्री ऋचा चड्ढा के हाथ में झाड़ू दिखाई गई है जो अपने घर से भागकर एक व्यक्ति के पास आ जाती है जिसे बसपा संस्थापक मान्यवर साहब कांशीराम की भूमिका में दिखाया गया है। फिल्म के ट्रेलर में दिखाया गया है मुख्य भूमिका में नजर आ रही अभिनेत्री ऋचा चड्ढा अपने घर से भाग आती है जिसे मास्टर जी (कांशीराम) अपने पास रख लेते हैं। इस सीन का देश के दलित समाज के लोग कड़ा विरोध कर रहे हैं। एक डायलॉग में मायावती की भूमिका में ऋचा चड्ढा कहती हैं कि, “मैं नौजवानों को कहना चाहती हूं कि मैं कुंवारी हूं, तेज कटारी हूं लेकिन तुम्हारी हूं।” इस डायलॉग से देश के दलित समाज में गहरा रोष है। भीमसेना प्रमुख नवाब सतपाल तंवर ने फिल्म के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। तंवर ने धमकी दी है कि यह फिल्म यदि सिनेमाघरों में प्रदर्शित की गई तो पोस्टर फटेंगे और सिनेमाघर जलेंगे। यदि फिल्म को बैन नहीं किया जाता है तो देश इसके गम्भीर परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहे। फिल्म में गेस्ट हाउस कांड को भी प्रमुखता से दिखाया गया है, फिल्म में भाजपा के साथ गठबंधन में सरकार बनाने की सियासी गतिविधियों को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया है। फिल्म के चारों तरफ हो रहे विरोध के बावजूद यदि फिल्म को थियेटर तक लाया गया तो अराजकता फैलने का पूरा खतरा है। सूत्रों के अनुसार सरकार भीमसेना चीफ़ नवाब सतपाल तंवर की चेतावनी को गम्भीर मानते हुए फिल्म के प्रदर्शन पर रोक लगा सकती है। बहरहाल देखना दिलचस्प होगा कि क्या मायावती पर बनी यह फिल्म सिनेमाघरों तक पहुंच पाएगी या इसे भीम सैनिकों के गुस्से को सामना करना पड़ेगा या सरकार इस फिल्म पर रोक लगाती है?

3 comments

  • Monu jaipal Rajasthan

    Ham Rajasthan m ye film lagne nhi dege

  • मिलिंद पटेकर

    ऐसे मनुवादी फिल्म पर बंदी लगनी चाहिए

    • Monu jaipal udasar

      Agar ye film sinema gharo m lagi to eska prinam acha nhi hoga