किसान आंदोलन; आज जयपुर और आगरा हाइवे करेंगे जाम;17वा दिन

कृषि कानून रद्द करने की मांग करने वाले किसानों ने आज अपना आंदोलन फिर ताज कर दिया है। किसानों के ऐलान के मुताबिक किसानों ने टोल प्लाजा फ्री करने शुरू कर दिए हैं। अंबाला स्थिति शंभू टोल प्लाजा पर सभी वाहन बिना टोल चुकाए गुजर रहे हैं। करनाल स्थित बस्तारा टोल प्लाजा भी किसानों ने फ्री कर दिया गया है। मिली जानकारी के मुताबिक आज किसान आज दिल्ली-जयपुर और दिल्ली-आगरा हाईवे भी जाम करेंगे। किसानों का कहना है कि केंद्र सरकार से बातचीत के दरवाजे खुले हैं, सरकार ने बुलाया तो जरूर बात करेंगे।

किसानों की चेतावनी और टोल प्लाजा फ्री करने की गतिविधियों को देख कर आज दिल्ली-हरियाणा के बीच के 5 टोल प्लाजा पर 3500 पुलिसकर्मी तैनात करने की योजना है। किसान आंदोलन के बीच टोल प्लाज़ाओं को बचाने के लिए पुलिस बदरपुर, गुरुग्राम-फरीदाबाद, कुंडली-गाजियाबाद-पलवल, पाली क्रशर जोन और धौज टोल प्लाजा पर प्रदर्शनकारियों पर पुलिस निगरानी रखी जाएगी। पुलिस ओर से जारी बयान में कहा गया है कि हम सभी का सम्मान करते हैं, लेकिन कानून व्यवस्था बिगड़ी तो सख्त कार्रवाई की जाएगी।

उधर, खबर है कि आंदोलन में शामिल होने के लिए पंजाब से 50 हजार और किसान शुक्रवार को दिल्ली के लिए निकल गए है। यह सभी 50 हजार किसान आज शाम तक कुंडली बॉर्डर पहुंचेंगे। किसान मजदूर संघर्ष समिति से जुड़े यह किसान अमृतसर, तरनतारन, गुरदासपुर, जालंधर, कपूरथला और मोगा जिलों के हैं।

दिल्ली की भारी सर्दी और कोरोना प्रकोप के बावजूद किसान 17 दिनों से दिल्ली की सीमाओं पर अपनी मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे हैं। पिछले 17 दिनों में टिकरी और सिंघु बॉर्डर पर एक-एक कर अब तक 11 किसान मौत का शिकार हो चुके हैं। किसानों की जान जान पेट या सीने में दर्द या किसी ना किसी हादसे में गई है। कड़ाके की सर्दी में आसमान तले बैठे किसान लगातार बीमार पड़ रहे हैं।

किसानों ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में अर्जी लगाकर कहा कि नए कानून उन्हें कॉरपोरेट के भरोसे छोड़ देंगे। ये कानून जल्दबाजी में लाए गए हैं। ये अवैध और मनमाने हैं, इसलिए इन्हें रद्द किया जाए।