गरीबों के अकेले में चालान हो जाते है और उपायुक्त कार्यालय में नही माना जाता कानून

आज कल हिमाचल पुलिस मास्क का प्रयोग नही करने वालों के हर जगह चालान कर रहे है। अब तक करोड़ों का जुर्माना वसूला जा चुका है। घर के बाहर बैठे लोगों को भी मास्क ना पहनने पर उनका चालान काटा जा रहा है।जबकि विश्व स्वास्थ्य संगठन भी पुष्टि कर चुका है कि मास्क से कोरोना नही रुकता। लेकिन हिमाचल पुलिस को साफ निर्देश है कि जहां कोई भी बिना मास्क दिखे, सीधा चालान करो। अगर अपराध मान लिया तो जुर्माना 1000 रुपये और नही माना तो 5000 जुर्माना और 8 दिन की जेल।

घुमारवीं में चालान करते पुलिस वाले और उपायुक्त कार्यालय शिमला

लेकिन यह कानून केवल आम गरीब लोगों के लिए है अगर बात उपायुक्त कार्यालय में हो रही बैठक की हो तो वहां कोई कानून लागू नही होता। आज जहां घुमारवीं में दुकान में बैठे अकेले दुकानदार का चालान मास्क नीचे होने के कारण किया गया। जबकि आप वीडियो में साफ देख सकते है कि पुलिस वालों के मास्क भी सही जगह नही है। वहीं उपायुक्त कार्यालय शिमला में हो रही बैठक में एक आदमी बिना मास्क के दिखाई दे रहा था। यह पोस्ट DC SHIMLA के ऑफिसियल FACEBOOK पेज पर डाली गई है। पोस्ट का समय 08:20 से 08:30 शाम के समय और पोस्ट लिंक: https://www.facebook.com/360243304122698/posts/1791983487615332/ यह है।

फेसबुक पोस्ट का स्क्रीन शॉट

आम जनता में सबसे बड़ा सवाल यह उठ रहा है कि क्या इस मामले में पुलिस और मुख्यमंत्री हिमाचल प्रदेश उपायुक्त शिमला और इस आदमी के खिलाफ कानूनी कार्यवाही करवाएंगे। कइयों का तो यहां तक कहना है कि कानून केवल गरीबों के लिए होता है, बड़े लोगों को कौन पूछता है।