हमीरपुर में महिला से मारपीट और बाजू तोड़ी; लेकिन नही दर्ज हुआ हत्या के प्रयास का मुकदमा

हिमाचल प्रदेश में महिला उत्पीड़न और मारपीट के मामले लगातार बढ़ते जा रहे है। ताजा मामला हमीरपुर के सुजानपुर टिहरा पुलिस थाने से संबंधित है। वहां एक महिला को उसके पति ने इतना मारा कि महिला की बाजू टूट गई। महिला किसी तरह थाने पहुंची तो पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज करना भी जरूरी नही समझा बल्कि घरेलू हिंसा का मामला बना कर मामले को लटका दिया।

जानकारी के मुताबिक डोली में रह रही बंगाणा की एक महिला के साथ सोमवार को उसके पति मुकेश कुमार ने मारपीट की और उस महिला की बाजू तोड़ दी। महिला सोमवार को शाम पुलिस स्टेशन गई लेकिन पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज की और मेडिकल के लिए भेजा। लेकिन डॉक्टरों द्वारा एक्स रे के लिए कहा गया और रात को महिला का एक्स रे नही हुआ, जिसके चलते महिला को मंगलवार को मेडिकल के लिए बुलाया गया।

मंगलवार को एक्स रे में महिला की बाजू टूटी हुई पाई गई और डॉक्टर ने प्लास्टर चढ़ाने की भी सलाह दी। लेकिन महिला सुरक्षा का दम्भ भरने वाली सरकार में ना पुलिस ने महिला की कोई मदद की और ना ही महिला के पति ने महिला की बाजू पर प्लास्टर करवाया। आज घटना के तीन दिन बाद भी मामला मेडिकल रिपोर्ट को लेकर लटका हुआ है, महिला की कहीं कोई सुनवाई नही हो रही। आज भी महिला टूटी बाजू के साथ न्याय के लिए भटक रही है।

उधर पुलिस ने आरोपी को बचाने के लिए घरेलू हिंसा का केस दर्ज करके मामले को टाल रही है जबकि किसी की हड्डी तोड़ने पर 307 में का केस दर्ज होता है। इस बारे थाना प्रभारी से बात की गई तो उनका कहना था कि जब मेडिकल रिपोर्ट आएगी तभी बाकी की धाराएं लगाई जाएगी। पुलिस अधीक्षक आफिस कोरोना के कारण बंद चलने के कारण पुलिस अधीक्षक के पीए से बात करने की कोशिश की गई तो वह मीटिंग में व्यस्त थे।