न्यूज़ का असर; आम आदमी पार्टी हिमाचल प्रदेश के सभी पदों से शेषपाल सकलानी मुक्त

हिमाचल प्रदेश आम आदमी पार्टी में प्रति बढ़ते कलह से परेशान प्रदेश संयोजक निका सिंह पटियाल ने अनुशासनहीनता के लिए शेषपाल सकलानी को पार्टी के सभी पदों से बाहर आकर दिया है। जैसाकि सर्व विदित है कि पिछले दिनों आम आदमी पार्टी हिमाचल प्रदेश के पदाधिकारियों के कुछ ऑडियो फेसबुक, व्हाट्सएप आदि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हुई थे। जिनमें पार्टी के बड़े बड़े पदाधिकारी गली गलौच करते सुनाई दे रहे थे। ऑडियो में इतनी भद्दी भाषा का प्रयोग किया गया था कि कोई सभ्य आदमी इस तरह की भाषा का प्रयोग नही कर सकता। ऑडियो केवल आम आदमी पार्टी के संयोजक का ही नही, बल्कि कुछ और पदाधिकारियों के वी वायरल हुई है। सभी ऑडियो में एक आदमी हमेशा दूसरों को भड़काता नजर आया है जिसका नाम शेषपाल सकलानी है। हर किसी से गले गलौच के ऑडियो में दूसरे पक्ष में हमेशा शेषपाल सकलानी मौजूद रहे है। शेषपाल सकलानी ने कई दूसरे लोगों के ऑडियो को संयोजक निक्का सिंह पटियाल का बता कर सोशल मीडिया पर बदनाम किया था।

पिछले दिनों शेषपाल सकलानी को कई समाचार पत्रों में राज्य संयोजक के रूप में प्रकाशित किया गया। जबकि आज तक निक्का सिंह पटियाल को पार्टी से संयोजक के पद से कभी नही हटाया गया। शेषपाल सकलानी वही आदमी है जिसने पार्टी की शीर्ष नेत्री से भी बतमीजी की थी और नेत्री ने इसके बारे लिखित में पार्टी संयोजक को शिकायत भी की थी।
आम आदमी पार्टी के संयोजक ने साफ किया है कि शेषपाल सकलानी ने जानबूझ कर पार्टी के दूसरे कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों को टारगेट किया है। संयोजक ने यह भी साफ किया है कि मुझे और पार्टी बदनाम करने की साजिश के तहत शेषपाल सकलानी ने यह सब ड्रामा किया है। आम आदमी पार्टी के संयोजक निक्का सिंह पटियाल ने उपरोक्त सभी बातों को संज्ञान लिया और शेषपाल सकलानी को पार्टी के कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों के साथ दुर्व्यवहार करने के लिए सभी पदों से मुक्त कर दिया है।

प्रदेश संयोजक ने आगे कहा कि इस आदमी ने प्रदेश में बने बनाए संगठन को तोड़ने का प्रयास किया है। पता नही किस आदमी ने इस आदमी को आदर्शवादी पार्टी में प्लांट कर दिया है। बहुत से पार्टी कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों ने समय समय पर शेषपाल सकलानी को समझाया लेकिन वह पीछे नही हटा और आधी रात को फ़ोन पर पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ गली गलौच करता ही रहा। इस आदमी ने मेरे द्वारा आयोजित पार्टी की बैठकों को असफल करने की भरपूर कोशिश की और सभी को बैठकों में ना भाग लेने के लिए उकसाता रहा है। जिसके चलते उसको पार्टी के सभी पदों से मुक्त कर दिया गया है।

One comment