आम आदमी पार्टी हिमाचल में बना तीसरा मंच; प्रदेश प्रभारी इस मामले में चुप

पिछले दिनों आम आदमी हिमाचल प्रदेश संयोजक निक्का सिंह पटियाल और दूसरे राज्य संयोजक शेषपाल सकलानी के गाली गलौच का ऑडियो वायरल होने का प्रभाव सीधा आम आदमी पार्टी के अन्य नेताओं पर दिखाई दे रहा है। अन्य नेता पार्टी में फूट और क्लेशों को देखते हुए पार्टी के विघटन को लेकर चिंतित दिखाई दे रहे है।

जानकारी के मुताबिक आम आदमी पार्टी हिमाचल की स्थापना 8 साल पहले की गई थी और पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं में  शुरू से ही द्वेष और क्लेश रहने के कारण आज तक आम आदमी पार्टी प्रदेश में एक भी चुनाव नही लड़ पाई। पिछली साल एक और मंच बनाया गया जहां धड़ाधड़ नियुक्तियां की गई। लेकिन पुरानी कार्यकारणी के लोगों ने उन सभी नियुक्तियां को कई बार रद्द किया। नए सचिव नियुक्तियां करके लोगों को पदाधिकारी बना रहे थे तो पुराने सचिव उन सभी नियुक्तियों को रद्द कर रहे थे। जिसके चलते भी आम आदमी पार्टी हिमाचल प्रदेश में भारी फुट और हंगामा देखने को मिला था। पुराने कई निष्पक्ष और कर्तव्यनिष्ठ नेताओं को बिना किसी बहुमत या इस्तीफे के पार्टी से बाहर किया गया। पार्टी से बाहर किए गए लोगों में आम आदमी पार्टी हिमाचल प्रदेश के सचिव तक का नाम था। जिसके चलते पहली कार्यकारणी और दूसरी कार्यकारणी के बीच बहुत लंबी तकरार रही। बीच में महिला कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों के साथ बतमीजी और दूसरे मामलों ने भी बहुत ज्यादा तूल पकड़ा।

इस सारे घटना क्रम में सबसे आश्चर्यजनक बात यह है कि आम आदमी पार्टी हिमाचल के प्रभारी आज तक इस मामले में चुप है। आम आदमी पार्टी कहाँ निष्पक्ष और कर्तव्यनिष्ठ होने का दम्भ भरती है, वही आज तक अनुशासन तोड़ने वालों, महिला कार्यकर्ताओं पर टिप्पणियां करने वालों, एक दूसरे के साथ गाली गलौच करने वालों और एक दूसरे पर लांछन लगाने वालों के खिलाफ कोई कार्यवाही नही हुई। यह स्थिति आम आदमी पार्टी हिमाचल के लिए बेहद चिंतनीय है।

अब इसी तरह आम आदमी पार्टी में तीसरे मंच का गठन किया गया है। जिसमें कुछ खास नेताओं को शामिल किया गया। जानकारी के मुताबिक इस मंच का गठन आम आदमी पार्टी के सभी नेताओं और कार्यकर्ताओं को एक मंच पर इक्कठा करने के लिए बनाया गया है।

संगठन सौहार्द मंच संगठन में आपसी फूट औऱ क्लेश को देखते हुए आहत कार्यकर्ताओं ने सभी को एक मंच पर लाकर एकजुट करने के लिए एक अस्थाई कमेटी बनाई गयी है। मंडी और कुल्लू से एनके पंडित व अधिवक्ता जितेंद्र सिंह को को कार्यकर्ताओं को एक मंच पर लाने के लिए काम करने के निर्देश हुए है। उधर शेर सिंह ठाकुर, रमेश ठाकुर, रामनाथ, करसोग से भगवंत सिंह, शिमला से वीर सिंह ठाकुर, चितरान्टा जी, जोगटा, अपूर्वा, धर्मिन्द्र, अशोक, चम्बा से तरसेम शर्मा और रवि शर्मा , कांगड़ा से सुरेश गिजू , सतपाल सन्धु , आरके मनकोटिया, दिनेश ठाकुर, अनिल चौहान ज्वालामुखी, संजीव शर्मा, धर्मशाला, शिव राम दरोच, सिरमौर ,श्री एन एस कोटिया, नाहन, धर्मिन्द्र पच्छाद, प्रदीप छाजटा, शिलाई, जयावंती, मनोज कुमार, हमीरपुर, ऊना से विशाल राणा,सोलन से मधु शोभा, निर्मल शर्मा, राजीव शर्मा, नालागढ़ से हरिदत्त शर्मा को मध्यस्थता करने के लिए नियुक्त किया गया है। आम आदमी पार्टी हिमाचल प्रदेश में यह अस्थाई कमेटी है। इनका काम केवल सभी को एक मंच पर लाकर एकजुट करने तक है। ये कमेटी न ही कोई संगठन की अधिकृत कमेटी है, और न ही संगठन की तरफ से कोई प्रतिनिधित्व करेगी। केवल संगठन में एकजुटता लाने के लिए कार्यकर्ताओं की तरफ से एक मध्यस्थ की तरह काम करेगी।

One comment

  • R K Mankotia अद्व

    श्रीमानजी, मैं आर के मनकोटिया ऐडवोकेट एक्स काँगड़ा-चंबा प्रभारी ब स्टेट जोईयंट सेक्रेटेरी आम आदमी पार्टी हिमाचल प्रदेश मय समस्त कार्यकर्ताओं के बिलकुल हिमाचल प्रभारी श्री रत्नेश गुप्ता जी के दिशानिर्देश में तह दिल से संगठन की मज़बूती हेतु दिन रात पर्यासित हैं और चन्द लोग जिनमे कुछ पार्टी से निष्काशित लोग या कोई अपने अपने स्वार्थ सादने बाले लोग जो पार्टी की छभी ख़राब करने पे तुले हैं और कार्यकर्ताओं को भ्रमित कर रहे हैं की हम घोर निंदा करते हैं और समस्त अवाम से अर्ज़ है के ऐसे लोगों से भ्रमित ना हों 🙏🙏🙏