मुख्यमंत्री के गृह क्षेत्र में 22 सालों से नही बना पीएचसी

मुख्यमंत्री हिमाचल प्रदेश के गृह विधानसभा क्षेत्र सराज के बालीचौकी क्षेत्र पंजाई में बर्ष 1998 में भाजपा सरकार ने पीएचसी बनाने की घोषणा तत्कालीन मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल ने की थी। लेकिन पीएचसी भवन का निर्माण आज दिन तक पूरा नही हो पाया जबकि आज 22 साल गुजर चुके है।

स्थानीय लोगों को यह पीएचसी नही होने से कितनी तकलीफ होती है यह वहां के निवासी ही बता सकते है। पीएचसी भवन का निर्माण शुरू हुआ लेकिन अधूरा छोड़ दिया गया। आज भवन निर्माण में लगा सरिया गल सड़ चुका है। अधूरे निर्मित भवन की हालत खस्ता हो चुकी है। पिछले 22 सालों में चाहे कांग्रेस की सरकार रही हो या भाजपा की लेकिन किसी ने पंजाई में बन रहे इस पीएचसी भवन की सुध नही ली और आज भी यह अधूरा भवन अपनी बदहाली पर आंसू बहाता नजर आता है।

ऐसा भी नही है कि पैसा नही है। यहां बजट भी दिया गया है और विभाग के पास पैसा आज तक पड़ा हुआ है। लेकिन भ्रष्ट अधिकारी और आम आदमी को सुविधाओं ना देने के रवैये ने पूरी स्थिति बदल दी है। स्वास्थ्य विभाग और लोक निर्माण विभाग कुम्भकर्ण की नींद सोया हुआ है। इस से ज्यादा गहरी नींद स्थानीय सरकार के नेता, जनप्रतिनिधि और सरकार के हिमायती सोए हुए है। जो आज भी पंजाई के लोगों को स्वास्थ्य जैसी आधारभूत सुविधा से वंचित रखे हुए है।