उत्तर प्रदेश पुलिस का अमानवीय चेहरा

उत्तर प्रदेश में एक बार फिर पुलिस का अमानवीय चेहरा सामने आया है। जानकारी के मुताबिक बुलंदशहर में एक गरीब आदमी पटाखे बेच रहा था। लेकिन सरकार के नए आदेशों के मुताबिक उस जगह पटाखे बेचने पर प्रतिबंध था। जिसके चलते पुलिस ने छापा मारा और पटाखे बेचने वाले को गिरफ्तार कर लिया। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया और आम लोगों ने पुलिस के खिलाफ आवाज बुलंद कर दी।

उत्तर प्रदेश पुलिस का अमानवीय चेहरा

जानकारी के मुताबिक पिता की गिरफ्तारी के समय उसकी बेटी गिड़गिड़ाती और गाड़ी पर सिर पटकती दिखाई दे रही है। लेकिन उत्तर प्रदेश पुलिस को मासूम सी बेटी पर कोई तरस नही आया। घटना का वीडियो देखकर लोगों का सोशल मीडिया गुस्सा भी भड़क उठा है। हजारों की संख्या में लोगों ने वीडियो शेयर करते हुए सरकार पर आरोप लगाए है कि पहले पटाखों के लिए लाइसेंस जारी किया जाता है, उसके बाद जब विक्रेता अपनी सारी जमा पूंजी लगाकर पटाखे खरीद लेते हैं तो बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया जाता है।

यह बात अलग ही कि बाद में इस मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने खुद संज्ञान लिया है। मुख्यमंत्री के आदेश पर पुलिस ने दुकानदार को छोड़ दिया है। इसके साथ ही सीएम योगी ने पटाखा विक्रेता के घर में वरिष्ठ अधिकारियों के हाथों दिवाली की मिठाई भिजवाई है। उधर पुलिस अधिकारियों पर कार्यवाही करते हुए सभी पुलिस वालों को लाइन हाजिर कर दिया गया है।