रामपुर लोक निर्माण विभाग में 10:30 तक नही आते कर्मचारी और अधिकारी

आज सुबह राइट यूनिट रामपुर के सचिव किसी कार्य के लिए लोक निर्माण विभाग के आफिस रामपुर पहुंचे। सचिव आम जनता के कार्यों के लिए आफिस गए थे। ताकि लोगों की सड़क और दूसरी समस्याओं का समाधान किया जा सके। लेकिन बहुत इंतजार करने के बाबजूद आफिस की कुर्सियां खाली पाई गई। उन्होंने 10:30 बजे तक इंतज़ार किया लेकिन कोई भी अधिकारी नही पहुंचा। अधिकरियों को ज्यादा समय तक अनुपस्थित देखने के बाद दीवान चंद ने आफिस में वीडियो रिकॉर्डिंग की और वहां उपस्थित सरकारी कर्मचारियों को अधिकारियों के समय पर ना आने का कारण पूछा। कोई भी कर्मचारी संतोषजनक जबाब नही दे पाया।

दीवान चंद को वीडियो बनाता देख आफिस के कर्मचारियों ने उन पर हमला करने आ गए। पूरे आफिस के कर्मचारी दीवान को मारने दौड़ पड़े। मामले की नजाकत देखते हुए दीवान चंद ने भाग कर अपनी जान बचाई।

इस मामले को देखते हुए साफ जाहिर होता है कि लोक निर्माण विभाग के रामपुर आफिस में आने जाने को लेकर भारी अनियमितता है। कोई अधिकरी समय अपर नही पहुंचता जिस से आम जनता को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। जब कोई इन अधिकारियों का सच कोई दिखाने की कोशिश करता है तो उसको मारने पीटने की कोशिश की जाती है।

राइट यूनिट रामपुर के अध्यक्ष जयदीप विष्ट ने इस मामले में सचिव पर हुए हमले को गंभीरता से लेते हुए मुख्यमंत्री हिमाचल प्रदेश और डीजीपी हिमाचल प्रदेश से समस्त कर्मचारियों और अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्यवाही की मांग की है। उनका कहना है कि अधिकरी समय अपर नही आते, आफिस के नियमों का पालन नही करते। जब कोई आवाज उठाता है तो उसको डराते धमकाते है। यह कतई सहन नही किया जाएगा। अध्यक्ष जयदीप विष्ट ने इस मामले में मुख्यमंत्री हिमाचल प्रदेश और डीजीपी हिमाचल प्रदेश को शिकायत पत्र भेजा है।