गोहर में वन विभाग बाँट रहा काटे हुए पेड़

मामला मंडी में गोहर डिविजन का है. जहाँ वन विभाग के अधिकारी वन में काटे पेड़ों को टीडी में बाँट रहे है. मामला तब सामने आया जब कुछ ग्रामीणों ने वन विभाग के द्वारा दो साल से टीडी में घर ना बनाने के लिए पेड़ नहीं देने के बारे शिकायत की. जानकारी के मुताबिक एक आदमी को वन विभाग के गार्ड और बिओ ने एक जड़ से उखाडा गया पेड़ दे दिया लेकिन बाकि लोगों को मना कर दिया. जबकि पिछले कई महीनों से ना तो इलाके में कोई जबरदस्त तूफान हुआ है और ना ही इतनी बारिश हुई है जिसके कारण देवदार का पेड़ गिर जाए.

जब इस बारे जवराट बीट के गार्ड से बात की गई तो उनका कहना था कि वन विभाग गिरे हुए पेड़ टीडी में दे सकता है और जंगल में एक गिरा हुआ पेड़ था जिसको टीडी में दे दिया गया है. लेकिन विडियो में आप लोग साफ़ साफ़ देख सकते हो कि यह पेड़ गिरा हुआ नहीं बल्कि जड़े काट कर गिराया गया है. आम लोगों का सवाल भी अपनी जगह जायज है कि क्या गोहर वन विभाग के अधिकारी बिना कानूनी कार्यवाही किए गिराए हुए पेड़ टीडी में कैसे बाँट सकते है.