मंडी: मंडी जिला के पधर में धाम खिलाने के बाद 2 रसोइए कोरोना पॉजिटिव निकले हैं जिससे शादियों में धाम खाने वाले लोगों में हड़कंप मच गया है। उधर, प्रशासन ने विधायक समेत धाम खाने वाले अन्य लोगों को भी होम आइसोलेट होने के निर्देश दिए हैं। जानकारी के मुताबिक पंचायत कुफरी के एक गांव में 27 अप्रैल को शादी समारोह था, जहां 2 रसोइयों ने धाम पकाई थी और 28 अप्रैल को एक रसोइए ने अपना आरटी-सीपीआर टैस्ट करवाया, जिसकी रिपोर्ट शुक्रवार को आई और वह संक्रमित पाया गया। इसके बाद उरला पंचायत के सास्ती गांव में अन्य शादी समारोह में धाम पका रहे दूसरे रसोइए को अपना सैंपल देने सिविल अस्पताल पधर बुलाया गया, जहां रैपिड एंटीजन टैस्ट में ही वह पॉजिटिव पाया गया। प्रशासन ने दोनों संक्रमित रसोइयों को होम क्वारंटाइन के आदेश जारी किए हैं, जिनके खिलाफ कार्रवाई होना संभव है। बताया जा रहा है कि कुफरी में हुए शादी समारोह में स्थानीय विधायक ने भी धाम चखी थी, ऐसे में प्रशासन द्वारा विधायक को भी होम आइसोलेट रहने को कहा गया है।

उधर, चौहार घाटी के धमच्याण में भी शादी समारोह में केटरिंग का कार्य करने वाला युवक पॉजिटिव पाया गया है। बता दें कि युवक केटरिंग के काम के साथ-साथ टिक्कन में ढाबा भी चलाता है, जहां घटासनी-बरोट सड़क के कार्य में जुटी एक कंपनी के 11 मजदूर पॉजिटिव आने के बाद टिक्कन बाजार एक हफ्ते के लिए बंद किया गया है। उधर, मजदूरों के संपर्क में आए लोगों के भी सैंपल लिए जा रहे हैं। युवक और उसकी पत्नी का सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बरोट में रैपिड टैस्ट करवाया गया था जिसमें दोनों संक्रमित पाए गए। एसडीएम पधर शिव मोहन सैनी ने कहा कि इस तरह के मामले सामने आने के बाद कुफरी और उरला में और कोरोना सैंपल लिए जाएंगे। बता दें कि पिछले सप्ताह सियून के सकरोग गांव में उपमंडल प्रशासन की दबिश के बाद बिना कोविड टैस्ट के धाम पका रहे रसोइए को 5 हजार रुपए का जुर्माना किया गया था और एफआईआर भी दर्ज की गई थी।

error: Content is protected !!