दिल्ली की सीमा से सटे फरीदाबाद के खोरी इलाके में नगर निगम द्वारा शुक्रवार सुबह से अवैध निर्माणों को तोड़ने का अभियान शुरू कर दिया गया है। अभी तक करीब 17 सौ से अधिक मकान तोड़े जा चुके हैं। निगम की इस कार्रवाई से हजारों लोग बेघर होकर सड़क पर आ गए हैं। स्थानीय लोगों में इसे लेकर भारी गुस्सा भी देखा जा रहा है। खोरी में बने श्री कृष्ण मंदिर की मूर्ति को भी नगर निगम कर्मचारियों ने मंदिर से हटाकर बाहर रख दिया है।

वहीं, फरीदाबाद नगर निगम के संयुक्त आयुक्त प्रशांत का कहना है कि यहां नगर निगम की जमीन पर कब्जा करके लोगों ने अवैध ढंग से निर्माण किए हैं। उन्होंने बताया कि यह कार्रवाई पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के आदेश पर की जा रही है। अब तक 17 सौ मकान तोड़े जा चुके हैं और यह तोड़फोड़ आगे भी जारी रहेगी।

खोरी में अवैध निर्माणों को तोड़ने के लिए मौके पर दो हजार से ज्यादा पुलिस के जवान तैनात हैं। कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस ने खोरी की चारों तरफ से घेराबंदी कर दी है। सूरजकुंड रोड से दिल्ली जाने वाले लोगों और ट्रैफिक को अनंगपुर चौक से ही ग्रीन फील्ड कॉलोनी की तरफ नेशनल हाईवे के लिए डायवर्ट कर दिया गया है। इसी प्रकार सूरजकुंड में गोलचक्कर पर वाहनों को रोक दिया गया है।

लोगों का कहना है कि उन्होंनें अपनी खून-पसीने की कमाई से पाई-पाई जोड़कर ये मकान बनाए थे। अब वो कहां जाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने कहा था कि किसी को भी बेघर नहीं होने दिया जाएगा और जहां झुग्गी वहीं मकान का नारा दिया था। फिर हमारे आशियाने क्यों तोड़े जा रहे हैं।

error: Content is protected !!